JharkhandLead NewsRanchi

चाईबासा में आइईडी ब्लास्ट के बाद नक्सलियों के विरुद्ध अभियान तेज

Chaibasa : झारखंड के चाईबासा जिले में गुरुवार को माओवादियों के आइईडी ब्लास्ट में झारखंड जगुआर के तीन जवानों के शहीद होने की घटना के बाद क्षेत्र में नक्सल विरोधी अभियान तेज कर दिया गया है.

गुरुवार को चाईबासा जिले के झरझरा और लांझी के बीच माओवादियों के ब्लास्ट में झारखंड जगुआर के तीन जवानों के शहीद होने की घटना के बाद क्षेत्र में बड़ी संख्या में पुलिस बल को जंगल में भेजा गया है और कांबिंग ऑपरेशन को तेज कर दिया गया है. सुरक्षा बलों ने झारखंड के बेहद घने सारंडा के जंगलों में नक्सलियों के विरुध अभियान को तेज कर दिया है.

इसे भी पढ़ें : बंगाल चुनाव :  दीदी के खास रहे दिनेश त्रिवेदी ने थामा भाजपा का दामन, अब दादा और मिथुन पर निगाहें

यह ऑपरेशन लांझी इलाके के घने जंगलों और पहाड़ियों के बीच चल रहा है. नक्सलियों के खिलाफ सुरक्षा बलों का यह ऑपरेशन आर-पार की तरह है. सुरक्षाबलों को सूचना है कि नक्सलियों के कई दस्तों के साथ कई बड़े नक्सली नेताओं के होने की सूचना पर सुरक्षा बल ने ऑपरेशन शुरू किया है.

जवानों की घेराबंदी को देखते हुए कहा जा सकता है कि इसमें नक्सलियों के सरेंडर करने या मारे जाने की पूरी संभावना है. सैकड़ों जवान जंगलों में तलाशी अभियान चला रहे हैं. इस पूरे ऑपरेशन पर झारखंड के वरीय पुलिस अधिकारी नजर बनाये हुए हैं.

झारखंड का सारंडा जंगल नक्लसियों के लिए काफी सेफ माना जाता है. वहीं पुलिस कई सालों से सारंडा को नक्सलियों से मुक्त कराने के लिए अभियान चला रही है, लेकिन नक्सलियों के चंगुल से झारखंड पुलिस अब तक मुक्त नहीं करा पायी है और हाल के दिनों में नक्सलियों की वारदात को देखते हुए इतना आसान भी नहीं लग रहा है.

इसे भी पढ़ें :शानदार उपलब्धि : भारत आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप तालिका में शीर्ष पर 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: