NEWS

विश्व भारती विश्वविद्यालय में हुई हिंसा को लेकर कलकत्ता हाइकोर्ट ने रिपोर्ट मांगी

Kolkata : कलकत्ता उच्च न्यायालय ने विश्व भारती विश्वविद्यालय परिसर में पिछले महीने हुई हिंसा के संबंध में अधिकारियों से रिपोर्ट तलब की है. मुख्य न्यायाधीश टीबीएन राधाकृष्णन और न्यायमूर्ति शम्पा सरकार की खंडपीठ ने विश्वविद्यालय, श्रीनिकेतन, शांतिनिकेतन विकास प्राधिकरण और पश्चिम बंगाल सरकार को 16 सितंबर तक शपथपत्र के रूप में अपनी रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया.

से भी पढ़ें – जानिये…क्यों एमएस धौनी को करना पड़ा JSCA को 1800 रुपये का भुगतान

चहारदीवारी बनाये जाने को लेकर केंद्रीय विश्वविद्यालय परिसर में 17 अगस्त को भीड़ द्वारा की गयी तोड़-फोड़ के मामले में सीबीआइ जांच का अनुरोध करनेवाली जनहित याचिका पर अगली सुनाई 18 सितंबर के लिए सूचीबद्ध की गयी. बीरभूम जिले में ‘पौष मेला मैदान’ में दीवार बनाने का विरोध कर रही भीड़ ने विश्वविद्यालय की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था.

advt

कोलकाता तथा जादवपुर की राह पर बर्दवान विवि भी

कलकत्ता विश्वविद्यालय तथा जादवपुर विश्वविद्यालय के तर्ज पर बर्दवान विश्वविद्यालय ने भी निर्णय लिया है कि परीक्षार्थी अपने घर पर किताब खोल कर स्नातक और स्नातकोत्तर के अंतिम वर्ष की परीक्षा दे सकते हैं. परीक्षा 1 से 18 अक्टूबर के बीच समाप्त होगी. ई-मेल या वॉट्सएप द्वारा प्रश्न प्राप्त करने के 24 घंटे के भीतर जवाब ऑनलाइन या फिर कॉलेज व विश्वविद्यालय जाकर उत्तर पुस्तिका जमा कर सकते हैं. कॉलेज के प्रोफेसर जहां छात्रों को पढ़ा रहे हैं, वे उनका मूल्यांकन करेंगे. परिणाम 31 अक्टूबर तक घोषित कर दिया जायेगा.

बर्दवान विश्वविद्यालय की फैकल्टी काउंसिल की बैठक में इसका निर्णय किया गया. इसके तहत प्रश्न पत्र वॉट्सएप या ई-मेल के माध्यम से छात्रों को भेजे जायेंगे और परीक्षार्थी घर पर बैठक कर ही परीक्षा देंगे और 24 घंटे के भीतर ऑनलाइन या फिर कॉलेज-विश्वविद्यालय जाकर अपनी उत्तर पुस्तिका जमा करनी होगी.

इसे भी पढ़ेंः जिस ट्रोल आर्मी की बदौलत भाजपा विरोधियों को नीचा दिखाती रही, क्या अब वह समस्या बनती जा रही है!

adv
advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button