JharkhandLead NewsRanchi

CAG : सरकार को चपत लगाने की कोशिश, अधिकारियों ने मार्च 2020 तक 29,358 उपयोगिता प्रमाण पत्र नहीं किए जमा

RANCHI : राज्य के अधिकारियों ने उपयोगिता प्रमाण पत्र जमा करने में लापरवाही बरती है. शीतकालीन सत्र में पेश किए गए सीएजी की रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है. रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्ष 2018-19 तक भुगतान किए गए 69,702.99 करोड़ रुपये का अनुदान से सम्बंधित 29,358 उपयोगिता प्रमाण पत्र जमा नहीं किया गया है. ये उपयोगिता प्रमाण पत्र मार्च 2020 तक जमा नहीं किये. रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्ष 2018-19 में 17,975.81 करोड़ और 2019-20 में 19,191.46 करोड़ रु सहायता अनुदान में से 8,446.2 करोड़ और 7,079.39 करोड़ रु प्राधिकरणों व निकायों को दी गयी थी. इस राशि का उपयोगिता प्रमाण पत्र अब तक जमा नहीं किया गया है.

इसे भी पढ़ें : हेमंत सरकार : 29 दिसंबर को दो साल पूरा होने पर होगा भव्य कार्यक्रम, तैयार हो रही रूपरेखा

नौ विभागों ने सबसे अधिक उपयोगिता प्रमाण पत्र जमा नहीं किये

Sanjeevani
MDLM

ग्रामीण विकास- 20,861.54 करोड़ के 2468 यूसी (यूटिलाइजेशन सर्टिफिकेट)
नगर विकास- 15167.62 करोड़ के 7959 यूसी
स्कूली शिक्षा- 14,920.86 करोड़ के 3942 यूसी
ऊर्जा विभाग- 7437.84 करोड़ के 82 यूसी
स्वास्थ्य व परिवार कल्याण विभाग- 5462.37 करोड़ के 610 यूसी
कृषि पशुपालन एवं सहकारिता- 1538 यूसी
कल्याण- 1083 यूसी
महिला,बाल विकास एवं सामाजिक सुरक्षा-1053 यूसी
उद्योग विभाग- 659 यूसी

इसे भी पढ़ें : UP Election 2022: स्मृति ईरानी का ‘नायक’ अवतार, मंच से ही कर दी रायबरेली के DM की संडे की छुट्टी कैंसिल, जानें वजह

बकाया उपयोगिता प्रमाण पत्र का वर्षवार विवरण इस प्रकार हैं

वर्ष प्रमाणपत्रों की संख्या राशि (करोड़ में)
2010-11 2192 966.4
2011-12 494 273.38
2012-13 945 1,141.17
2013-14 1,333 1,518.08
2014-15 2,134 5,354.78
2015-16 8,907 9,574.60
2016-17 4,873 14,501.49
2017-18 3,997 18,937.65
2018-19 4,483 17,435.44

इसे भी पढ़ें : सिदगोड़ा में मारपीट कर पर्स की छिनतई

Related Articles

Back to top button