NationalWorld

#CAAProtest : हार्वर्ड और ऑक्सफोर्ड के छात्रों-शोधकर्ताओं का जामिया और एएमयू में पुलिस कार्रवाई के विरोध में प्रदर्शन

NewDelhi : जामिया मिलिया इस्लामिया और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में पुलिस कार्रवाई के खिलाफ हार्वर्ड और ऑक्सफोर्ड सहित कई प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थानों के छात्रों ने प्रदर्शन किया है.  खबर है कि विदेशी विश्वविद्यालयों के परिसरों में प्रदर्शनों की अगुवाई वहां के भारतीय छात्रों ने की.

इस क्रम में ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के छात्रों, शोधवेत्ताओं और पूर्व छात्रों द्वारा संयुक्त बयान भी जारी किया गया. इसमें कहा गया है कि  हम जामिया, एएमयू और अन्य भारतीय शिक्षण संस्थानों में छात्रों, पर की गयी हिंसा की निंदा करते हैं.  पुलिस बल का प्रयोग विश्वविद्यालय में प्रदर्शन करने के अपने मौलिक अधिकारों का इस्तेमाल कर रहे विद्यार्थियों के खिलाफ किया गया है.

हार्वर्ड विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों एवं शोधवेत्ताओं ने भारत सरकार को खुला पत्र भी लिखा है.  उसमें कहा गया है कि  हम प्रदर्शनकारियों खासकर महिलाओं के जोश को तोड़ने पर केंद्रित पुलिस नृशंसता की खबरों से स्तब्ध हैं और चितिंत हैं.   विश्वविद्यालय में प्रदर्शन करने के अपने मौलिक अधिकारों का इस्तेमाल कर रहे विद्यार्थियों के खिलाफ पुलिस बल का इस्तेमाल लोकतांत्रिक समाज की बुनियाद किया पर सीधा प्रहार है.

इसे भी पढ़ें :  #CAA को लेकर SC का केंद्र को नोटिस, कानून की संवैधानिक वैधता की होगी जांच फिलहाल रोक से इनकार

ऑक्सफोर्ड विवि के छात्रों ने इंडिया हाऊस तक मार्च निकाला

अमेरिका के कई विश्वविद्यालयों के 400 से अधिक छात्रों ने संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस लाठीचार्ज के शिकार बने जामिया और एएमयू के विद्यार्थियों के साथ एकजुटता प्रदर्शित करते हुए संयुक्त बयान जारी किया.

एक बयान में हार्वर्ड, येल, कोलंबिया, स्टेनफोर्ड समेत विभिन्न विश्वविद्यालयों के शोधवेत्ताओं ने कहा कि वे जामिया और एएमयू में विद्यार्थियों पर बर्बर पुलिस हिंसा को संविधान एवं अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार कानूनों के तहत मानवाधिकार का गंभीर उल्लंघन मानते हैं और उसकी कड़ी निंदा करते हैं. ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों एवं शोधवेत्ताओं ने संशोधित नागरिकता कानून तथा विद्यार्थियों पर पुलिस कार्रवाई के खिलाफ लंदन में इंडिया हाऊस तक मार्च निकाला.

इसे भी पढ़ें : 2019 में दुनियाभर में 49 #journalists की हत्या किये जाने की खबर, औसतन हर साल 80 पत्रकार मारे गये

Telegram
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close