National

#CAA और NRC गंभीर मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए मोदी सरकार लायी : शरद पवार

विज्ञापन

Mumbai  : राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ( NCP) के वरिष्ठ नेता शरद पवार ने राजग सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि संशोधित नागरिकता कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) देश को परेशान कर  रहे गंभीर मुद्दों से ध्यान भटकाने की चाल है. कहा कि जो लोग न सिर्फ अल्पसंख्यक बल्कि जो कोई देश की एकता एवं प्रगति की चिंता करते हैं, वे CAA और NRC का विरोध कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : #CAAProtest : कर्नाटक, गुवाहाटी के बाद इलाहाबाद हाईकोर्ट भी सख्त, UP में इंटरनेट बंद करने को लेकर योगी सरकार से जवाब तलब किया

एल्गार परिषद मामले में एसआईटी जांच की मांग

पवार ने कहा कि नया नागरिकता कानून देश की धार्मिक, सामिजक एकता और सौहार्द को बिगाड़ेगा. पवार ने सवाल किया  कि  CAA  के तहत केवल पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के शरणार्थियों को ही नागरिकता क्यों दी जायेगी,  श्रीलंका के तमिलों को क्यों नहीं. पवार ने एक सवाल के जवाब में कहा कि बिहार समेत राजग के शासन वाले आठ राज्यों ने कानून को लागू करने से इनकार कर दिया है और महाराष्ट्र का भी रुख यही रहना चाहिए.

advt

पूछा कि CAA भले ही केंद्रीय कानून हो लेकिन इसको लागू राज्यों को करना है.  लेकिन क्या राज्यों के पास ऐसा करने के लिए संसाधन एवं तंत्र है.  पवार ने एल्गार परिषद मामले में कार्यकर्ताओं के खिलाफ पुणे पुलिस की कार्रवाई की भी एक सेवानिवृत्त न्यायाधीश की अगुवाई में एसआईटी जांच कराने की मांग की.

इसे भी पढ़ें : इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने #CAA को अनैतिक करार दिया, माकपा ने NRC वापस लेने की बात कही   

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button