JharkhandLead NewsRanchi

मेयर का विरोध दरकिनार, श्री पब्लिकेशन ने शुरू की होल्डिंग टैक्स की वसूली

Ranchi : मेयर आशा लकड़ा के तमाम विरोधों के बीच होल्डिंग टैक्स वसूली का काम श्री पब्लिकेशन ने शुरू कर दिया है. सोमवार को रांची नगर निगम और डोरंडा स्थित जन सुविधा केंद्र में लोग होल्डिंग टैक्स जमा कराते देख गये. राजधानी के कुल 53 वार्डों में 2 लाख से अधिक घरों से होल्डिंग टैक्स वसूलने, नया होल्डिंग नंबर जारी करने और ट्रेड लाइसेंस बनाने का काम कंपनी श्री पब्लिकेशन कर रही है.

Jharkhand Rai

इससे पहले नगर आयुक्त के निर्देश के बाद निगम ने पहले ही कंपनी को सभी डाटा ट्रांसफर करने का निर्देश दिया था. इसी डाटा के आधार पर निगम अब राजधानी के लोगों से उनके घरों का होल्डिंग टैक्स वसूलेगा. दोनों ही जगह जैसे ही जन सुविधा केंद्र ने काम करना शुरू किया, वैसे ही कई लोग वहां पहुंच पूछताछ करने और होल्डिंग टैक्स जमा कराने लगे.

इसे भी पढ़ेः धर्मकोड के लिए आ रहे अलग-अलग नाम, डॉ मिंज ने बताया ये सरल समाधान

प्रत्येक वार्ड में जाकर टैक्स कलेक्टर करेंगे होल्डिंग टैक्स की वसूली

निगम के जनसुविधा केंद्र में बैठे कर्मियों ने बताया कि पहले ही दिन कई लोगों ने आगे बढ़कर होल्डिंग टैक्स जमा कराया. हालांकि कितने लोगों ने होल्डिंग टैक्स जमा करवाया, इसकी जानकारी तो नहीं दी गयी. लेकिन कर्मी ने बताया कि दोपहर 2.30 बजे तक निगम में करीब 50 से अधिक लोगों ने होल्डिंग टैक्स जमा कराने कराया.

Samford

कुछ लोगों ने नये ट्रेड लाइसेंस के लिए आवेदन भी किया. कई दिनों से होल्डिंग टैक्स वसूली लंबित होने के कारण कंपनी श्री पब्लिकेशन ने फिलहाल आवेदन की प्रक्रिया सहित अन्य जानकारी उपलब्ध कराने के लिए सुविधा केंद्र में एक अतिरिक्त कर्मचारी को बैठाया है. यह कर्मी लोगों की समस्याओं को दूर करने में सहयोग करेंगे. इसके अलावा कंपनी के टैक्स कलेक्टर प्रत्येक वार्ड में जाकर होल्डिंग टैक्स का कलेक्शन करेंगे. टैक्स कलेक्टर को कंपनी की ओर से इसके लिए ट्रेनिंग भी दी गयी है.

इसे भी पढ़ेः 10 महीने में 1200 बलात्कार, भाजपा ने राज्यपाल से कहा- संज्ञान लीजिए

कंपनी चयन को लेकर विभाग और मेयर के बीच है विवाद

बता दें कि नगर विकास विभाग की एजेंसी सूडा ने पूर्व की कंपनी स्पेरो सॉफ्टेक की जगह श्री पब्लिकेशन को राजधानी में टैक्स वसूली का काम सौंपा है. बाकायदा इसके लिए विभाग ने एक टेंडर जारी कर यह निर्देश दिया है. सरकार के निर्देश के बाद नगर आयुक्त मुकेश कुमार ने श्री पब्लिकेशन कंपनी के साथ बीते 3 अक्टूबर को एग्रीमेंट भी किया था. दूसरी तरफ मेयर आशा लकड़ा इस टेंडर के खिलाफ हैं. उनका कहना है कि विभाग ने ऐसा कर निगम के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप किया है.

इसे भी पढ़ेः लातेहारः बरवाडीह स्टेशन पर नहीं रुकी शक्तिपुंज एक्सप्रेस, घबराकर कूद गयी महिला यात्री, गंभीर

मेयर और सूडा के बीच इस तनातनी के बीच बीते 12 अगस्त से रांची में होल्डिंग टैक्स वसूली, नया होल्डिंग नंबर देने और ट्रेड लाइसेंस बनाने का काम पूरी तरह ठप हो चुका है. हालांकि मेयर इस बात पर अड़ी थीं कि कंपनी किसी भी हाल में काम नहीं करेगी. फिर भी कंपनी ने सोमवार से काम शुरू कर दिया है.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: