न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बिजली के लिए दो गांवों में घमासान, जमकर चले लाठी-डंडे, 20 जख्मी

18

Palamu : बिजली और पानी दैनिक जरूरतों में शामिल है. इसकी पूर्ति के लिए लोग हमेशा प्रयासरत रहते हैं. लेकिन कभी-कभी इनकी पूर्ति करने में विवाद खड़ा हो जाता है. जिससे हिंसक घटनाएं होती हैं और जान जाने तक की नौबत आ जाती है. पलामू जिले के पांकी थाना क्षेत्र में गुरुवार को कुछ इसी तरह की घटना हुई. सिंचाई के लिए एक गांव से दूसरे गांव में बिजली लाने पर दो गांवों के बीच जमकर मारपीट हुई. जिसमें 20 लोग जख्मी हो गए.

क्यों हुई मारपीट ?

जिले के पांकी थाना क्षेत्र के चकटांड़ में कुछ दिन पूर्व बिजली का ट्रांसफर्मर जल गया था. इससे गेहूं पटवन में स्थानीय लोगों को परेशानी हो रही थी. ग्रामीण पास के गांव सदाबह से बिजली खींच लाए थे और बिजली जला रहे थे, पटवन भी कर रहे थे. इसे लेकर कई बार दोनों गांवों के बीच कहा सुनी हुई. ग्रामीणों का आरोप है कि सदाबह गांव के सुमंत कुमार सिंह बिजली के तार को नोंच दे रहा था. कई दिनों तक परेशानी झेलने पर चकटांड़ के लोगों ने आपसी चंदा कर खराब ट्रांसफर्मर ठीक करा लिया और पूर्व की तरह बिजली जलाने लगे.

जबरन बिजली ले जाने पर हुआ विवाद 

गुरुवार को सदाबह गांव के लोग चकटांड़ के ट्रांसफर्मर से बिजली लेना चाहते थे. यहां के ग्रामीणों का कहना था कि जितने दिन सदाबह गांव के लोगों ने उनके ट्रांसफर्मर से बिजली जलायी है, हम भी ऐसा करेंगे. चकटांड़ के ग्रामीणों ने उन्हें बताया कि जब उनके गांव में बिजली ठीक ठाक स्थिति में है तो जबरन उनके गांव से बिजली क्यों ले जाने की क्या जरूरत है.  इससे सदाबह गांव के लोग विवाद पर उतर आये और चकटांड़ के निर्मल साव, नरेश साव सहित अन्य की गांव में घुसकर पिटायी कर दी.

दोनों ओर से चले जम कर लाठी डंडे

बाद में चकटांड़ के ग्रामीणों ने भी मारपीट शुरू की. इस दौरान दोनों ओर से जमकर लाठी-डंडे चले, जिससे 20 से अधिक लोग जख्मी हो गए. घायलों को किसी तरह इलाज के लिए पांकी सीएचसी में लाया गया, जहां गंभीर पाए जाने पर सदर अस्पताल रेफर किया गया. घटना की सूचना मिलने पर पांकी पुलिस द्वारा मामले में कार्रवाई शुरू कर दी गयी है.

कौन-कौन हुए जख्मी

घायलों में ईश्वरी साव, हरी साव, मनधारी साव, बिन्दू साव, निर्मल साव, प्रयाग सिंह, श्रवण सिंह, मनोज कुमार सिंह, नरेश साव, इन्द्रदेव साव, विजय साव, सहदेव साव, काशीनाथ साव, सुमंत कुमार, कृष्णा सिंह, बलवंत सिंह, अरविंद सिंह, रामधारी साव, सुदेश्वर साव, कलेश्वर साव, वासुदेव साहु, मदन साव सहित अन्य शामिल हैं. इनमें बिन्दू, निर्मल, अंतु, मनोज, इंद्रदेव, चंदव और काशीनाथ सिंह की गंभीर स्थिति बतायी गयी है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: