न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कारोबारी सिंह ब्रदर्स आपस में झगड़े, छोटे भाई ने बड़े को NCLT में घसीटा

भारत के कॉरपोरेट जगत में एक और फैमिली वार !

938

New Delhi: देश के कारोबारी सिंह ब्रदर्स का झगड़ा सबके सामने आ चुका है. फोर्टिस हेल्थकेयर के पूर्व प्रवर्तक शिविंदर सिंह ने अपने बड़े भाई मालविंदर मोहन सिंह और रेलिगेयर के पूर्व प्रमुख सुनील गोधवानी को कोर्ट में घसीटा है.

इसे भी पढ़ेंःमोदी सरकार में अर्थव्यवस्था की लंबी छलांग , अप्रैल-जून तिमाही में GDP ग्रोथ रेट 8.2 प्रतिशत

मंगलवार को शिविंदर सिंह ने कहा कि उन्होंने अपने बड़े भाई सुनील गोधवानी के खिलाफ राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) में अपील की है. इसके साथ ही उन्होंने अपने बड़े भाई को कारोबारी भागीदारी से भी अलग कर दिया है.

एनसीएलटी में मामला दर्ज

शिविंदर सिंह ने एक वक्तव्य में कहा कि मैंने मालविंदर और सुनील गोधवानी के खिलाफ एनसीएलटी में मामला दायर किया है. यह मामला आरएचसी होल्डिंग, रेलिगेयर और फोर्टिस में उत्पीड़न और कुप्रबंधन को लेकर दायर किया गया है.

उनके मुताबिक मालविंदर और गोधवानी के सामूहिक और जारी कार्रवाईयों से कंपनियों और शेयरधारकों के हितों को नुकसान हुआ है. उन्होंने कहा कि वह लंबे समय से यह कार्रवाई करना चाहते थे लेकिन इस उम्मीद में रुके हुए थे कि सद्बुद्धि आएगी और पारिवारिक विवाद का एक नया अध्याय नहीं लिखना पड़ेगा. गौरतलब है कि गोधवानी भी सिंह परिवार का करीबी रहा है और एक समय तो उसे सिंह बंधुओं का ‘तीसरा भाई’ तक माना जाता रहा है.

हालांकि, इस बारे में फिलहाल मालविंदर सिंह से कोई टिप्पणी नहीं ली जा सकी. ज्ञात हो कि दो साल पहले सिंह ब्रदर्स तब चर्चा में आये थे, जब इन्होंने एक बाबा के चक्कर में करीब 22,500 करोड़ रुपये गंवा दिये थे. एक बाबा के प्रभाव में रहने वाले सिंह परिवार ने अपनी रैनबैक्सी बेच दी थी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: