न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बुराड़ी कांड: 11 पाइपों में छिपा 11 लोगों की मौत का रहस्य ?

1,065

NewDelhi: एक घर, 11 लाशें और घर से निकले 11 पाइप. बुराड़ी कांड के बाद से जहां हर कोई एक ही परिवार के 11 लोगों की मौत की खबर से आहत है. वही इसे लेकर कई तरह की थ्योरी सामने आ रही है. हालांकि, पुलिस फिलहाल इसे मोक्ष के लिए किया गया मास सुसाइड मान रही है. वही इस घर से निकले 11 पाइप को लेकर भी कई तरह की चर्चाएं हो रही हैं. इन पाइप में सात मुड़ी हुई है, जबकि चार सीधी हैं, वही घर से मिली लाशों में सात महिलाएं थी, जबकि चार पुरुष थे. अब इनदोनों बातों को तंत्र-मंत्र और अंधविश्वास से जोड़ा जा रहा है. वही पुलिस ने छह लोगों के पोस्टमार्टम रिपोर्ट का खुलासा करते हुए बताया कि इनकी मौत लटकने से हुई है. छह लोगों के साथ ना तो किसी तरह की जबरदस्ती हुई, ना ही गला घोंटा गया.

इसे भी पढ़ेंः मोक्ष के लिए किया गया मास सुसाइड !

बाबा की तलाश में पुलिस

दिल्ली के बुराड़ी में हुई 11 लोगों की मौत के मामले में एसडीएम की रिपोर्ट बड़ा खुलासा हुआ है. रिपोर्ट के मुताबिक मृतक परिवार तंत्र-मंत्र में शामिल था और घोर अंधविश्वास का शिकार था. वही इस पूरे मामले में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच अब उस बाबा की तलाश में जुटी है. जो इस परिवार को मोक्ष के लिए मौत की राह के उपाय बता रहा था. क्योंकि घर से मिले रजिस्टर और घर से मिली लाशों में काफी समानता मिली है. बुराड़ी के परिवार ने बिल्कुल उसी अंदाज़ में मौत को चुना जैसा पहले से रजिस्टर में दर्ज था. रजिस्टर में लिखा था कि कौन कहां लटकेगा और ठीक ऐसा ही किया भी गया. अबतक की जांच में ये बात भी सामने आ रही है कि परिवार को काफी दिनों से कोई गुमराह कर रहा था, क्योंकि बरामद रजिस्टर में 2015 से परिवार लगातार नोट्स लिख रहा था. पुलिस परिवार के सभी सदस्यों के कॉल डिटेल को खंगाल रही है.

11 पाइपों का 11 मौतों से कनेक्शन?

kjjljkl

घर में मिले दो रजिस्टर को पुलिस जहां डी-कोड करने में जुटी है. वही घर से निकले 11 पाइप ने हर किसी को हैरान कर दिया है. लोग इन पाइप को 11 लोगों की मौत से जोड़ रहे हैं. दरअसल, किसी को समझ नहीं आ रहा है कि इस तरह के 11 पाइप क्यों निकला हुआ है. इन 11 पाइपों में से 7 पाइप मुड़े हुए हैं जबकि 4 सीधे हैं. वही इन पाइपों को किसी इस्तेमाल के लिए नहीं लगाया गया है. ऐसे में पाइप को देखकर साफ होता है कि परिवार को अंधविश्वास जकड़ा हुआ था.

इसे भी पढ़ेंः दिल्ली : एक ही घर में 11 शव मिलने से इलाके में हड़कंप

लटकने से हुई मौत

उत्तरी दिल्ली के बुराड़ी में अपने घर में मृत पाए गए 11 लोगों में से छह के पोस्टमार्टम में संघर्ष के कोई संकेत नहीं मिले हैं. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने सोमवार को यह बतायाअधिकारी के मुताबिक दो बच्चों समेत छह लोगों का पोस्टमार्टम किया गया है और अब तक पुलिस को गला घोंटने या हाथापाई के कोई संकेत नहीं मिले हैं.  घटनास्थल से मिले हाथ से लिखे कुछ नोट्स को देखते हुए पुलिस को संदेह है कि यह मामला सोच-समझकर की गई आत्महत्या का है जो किसी धार्मिक अनुष्ठान के लिए की गई है.

बहन ने ‘तंत्र-मंत्र’ से किया इनकार

एकओर पुलिस जहां इसे अंधविश्वास में की गयी सामूहिक आत्महत्या मान रही है. वही मृतक दो भाइयों ललित और भूपी की बहन सुजाता ने इससे इनकार करते हुए इसे हत्या बताया है. सुजाता ने कहा, ‘लोग अंधविश्वास की बात कह रहे हैं… लेकिन ऐसा कुछ नहीं था. मेरे परिवार के लोग धार्मिक जरुर थे, लेकिन किसी बाबा, या अंधविश्वास के चक्कर में नहीं थे. घर में शादी का माहौल था, तब लोग क्यों सुसाइड क्यों करेंगे. घर का दरवाजा खुला है और पुलिस कह रही है कि आत्महत्या हुई है.’

बता दें कि रविवार को एक ही परिवार के 11 सदस्य अपने घर के भीतर रहस्यमयी परिस्थितियों में मृत मिले थे. इनमें सात महिलाएं, दो बच्चे भी थे. पुलिस ने बताया कि दस लोग फांसी से लटके थे जबकि 77 वर्षीय महिला घर के एक अन्य कमरे में मृत मिली थींफांसी से लटके पाए गए लोगों के चेहरे पर टेप लगे थे और उनके चेहरे जिन कपड़ों के टुकड़ों से ढके हुए थे वह एक ही चादर से काटे गए थेबुजुर्ग महिला का चेहरा ढका हुआ नहीं था और उनका कथित तौर पर गला घोंटा गया था. पुलिस ने बताया कि उनका पोस्टमार्टम जारी है घर की बेटी प्रियंका की पिछले महीने ही सगाई हुई थी और इस साल के अंत तक उसकी शादी होनी थी.
न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: