JharkhandLead NewsRanchi

दिलों पर चल रहा बुलडोजर, कहीं सदमे में मौत तो कोई हुआ बेहोश

Ranchi: धुर्वा डैम के किनारे से अतिक्रमण हटाने का नोटिस मिलने के बाद सदमें में एचइसी के सेवानिवृत्त कर्मचारी की मौत हो गई. कांके डैम और हिनू नदी के किनारे से एक-एक कर कई घरों को ध्वस्त कर दिया गया, जिससे वहां रहने वालों पर मुसीबत का पहाड़ टूट पड़ा. कांके में सीमा देवी आंखों के सामने उजड़ते आशियाने को देख बेहोश हो गई थी. ऐसा देखा गया है कि प्रशासन के द्वारा हमेशा बरसात के मौसम अतिक्रमण हटाया जाता है, जिससे बेघर हुए लोगों को काफी परेशानी होती है.

इसे भी पढ़ें : चिराग से मोहभंग! पारस गुट से बढ़ रही बीजेपी की नजदीकियां

हाईकोर्ट की फटकार के बाद जिला प्रशासन और नगर निगम के द्वारा शहर के विभिन्न हिस्सों में अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया जा रहा है. इसी क्रम में गुरुवार को धुर्वा डैम के किनारे से जिला प्रशासन की टीम की ओर से मार्किंग की गई थी और इस मार्किंग में एचइसी के रिटायर कर्मी नंद किशोर का घर भी आ गया था. परिजनों का कहना है कि धुर्वा डैम के किनारे से अतिक्रमण हटाने का नोटिस मिलने के बाद वह सदमे में आ गए थे और गुरुवार की देर रात उनकी मौत हो गई. वह एचईसी से रिटायर हुए थे और सेवानिवृत्ति की राशि से जमीन खरीद कर घर बनाए थे. उनकी मौत के बाद मोहल्ले में मातम पसर गया है.

अतिक्रमण हटाओ अभियान के दौरान हिनू इलाके के न्यू बंधुनगर और कांके में दो महिलाएं बेहोश हो गईं. इससे कुछ देर तक अफरातफरी मची रही. न्यू बंधुनगर में एक महिला के घर पर जैसे ही बुलडोजर चलना शुरू हुआ, महिला जार-जार रोने लगी. रोते-रोते गिर गई और बेहोश हो गईं. यह कई बार हुआ. इसी तरह कांके में भी अपना मकान टूटता हुआ देखकर एक महिला बेहोश हो गई.

इसे भी पढ़ें : हाईकोर्ट ने पूर्व विधायक संजीव सिंह को दुमका से धनबाद जेल शिफ्ट करने का दिया आदेश

Related Articles

Back to top button