NationalUttar-Pradesh

बुलंदशहर हादसा: जानें सुदीक्षा के साथ क्या-क्या हुआ, कैसे गयी इस होनहार छात्रा की जान

Bulandshahr: उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में एक छात्रा की मौत का मामला सामने आया है. छात्रा की मौत कुछ मनचले युवकों की वजह से हुई है. इन मनचलों के कारण एक होनहार छात्रा को अपनी जान गंवानी पड़ी. सुदीक्षा वैसे तो गरीब परिवार से थी. लेकिन उसने अपने दम पर अमेरिका में एडमिशन लिया था. और वह वहां पढ़ाई कर रही थी. सुदीक्षा को अमेरिका में पढ़ाई के लिए स्कॉलरशिप मिली थी.

सुदीक्षा छुट्टियों में अपने घर आयी थी. जिसके बाद उसे 20 अगस्त को वापस अमेरिका जाना था. लेकिन इससे पहले ही उसकी मौत हो गयी. वह अपने चाचा और भाई के साथ बाइक से अपने मामा के घर जा रही थी. इसी दौरान मनचलों ने उनका पीछा किया जिससे की एक्सीडेंट हुआ और इसमें सुदीक्षा की जान चली गयी.

इसे भी पढ़ें- रांची में जमीन-फ्लैट की रजिस्ट्री करीब 40 फीसदी घटी

advt

एक्सीडेंट की कहानी चाचा की जुबानी

घटना के बारे में युवती के चाचा ने कहा कि हमलोग स्कूटी से सुदीक्षा के मामा के यहां जा रहे थे. इसी दौरान एक बुलेट ने कई बार हमें ओवरटेक किया. वो लगातार हमारा पीछा कर रहे थे. यह देख हमने अपनी स्कूटी धीमी कर ली. लेकिन फिर भी बुलेट पर सवार युवकों ने पीछा नहीं छोड़ा. वो बुलेट वाला स्टंट करने लगा और ठीक हमारे आगे जाकर उसने अचानक से ब्रेक लगा दी.

अचानक ब्रेक लगने की वजह से हमारी स्कूटी की बुलेट से सीधी टक्कर लग गयी और हमलोग गिर गये. मेरी भतीजी सुदीक्षा भी नीचे गिर गयी और उसके सर पर चोट लगी. जिसके की घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गयी. मैं बाइक सवार युवक को पहचान नहीं सका लेकिन उसकी बुलेट पर जाट लिखा था. वहीं घटना होते ही वह तुरंत मौके से फरार हो गया.

इसे भी पढ़ें- क्या कृषि क्षेत्र का नया बदलाव देश के किसानों को सिर्फ मजदूर व गुलाम बना देगा

पुलिस पर मामले को छुपाने का आरोप

सुदीक्षा का भाई भी इस दौरान मौजूद था. उसने घटना के बारे में बताया कि हमारी स्कूटी की स्पीड करीब 30 के आसपास रही होगी. बाइक की वजह से हमने भी अचानक से ब्रेक मारी. जिससे की मैं आगे और दीदी पीछे गिर गयी. मुझे तो ज्यादा चोट नहीं आयी लेकिन दीदी को सिर पर चोट लगी. जो बाइक हमारा पीछा कर रही थी वह यूपी-13 की बाइक थी. जल्दबाजी में हम उसका नंबर नोट नहीं कर पाये.

adv

इधर, सुदीक्षा के घर के एक अन्य व्यक्ति ने बताया कि घटना के बाद पुलिस करीब आधे घंटे लेट मौके पर पहुंची. वह पूरे मामले को छुपाने की कोशिश कर रही है. गौरतलब है कि पुलिस इस मामले को अभी तक हादसे का नाम दे रही है. पूरी घटना जानने के बाद भी पुलिस इसे एक हादसा मान रही है. जबकि सुदीक्षा की मौत कुछ मनचले लड़कों की वजह से हुई है.

इसे भी पढ़ें- CM श्रमिक योजना को हरी झंडी दिखाने के साथ स्कॉलरशिप पर 15 अगस्त को हेमंत करेंगे बड़ी घोषणा!

advt
Advertisement

6 Comments

  1. I love looking through a post that can make people think. Also, many thanks for permitting me to comment!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button