न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नगर निगम को ठेंगा दिखा कर धनबाद में बिल्डर कर रहे हैं धड़ल्ले से अवैध निर्माण

732

Dhanbad:  धनबाद नगर निगम ने पिछले दो साल से अधिक समय में एक भी बिल्डर का नक्शा पास नहीं किया है. जिन लोगों का नक्शा झामाडा से पास है उसकी समय सीमा समाप्त हो गयी है. नक्शा पास करने के स्वीकृति पत्र में कार्य दो साल में पूरा करने की अनिवार्यता उल्लेखित रहती है. इसके अभाव में पारित किया गया नक्शा दो साल बाद स्वतः अमान्य हो जाता है. पूर्व पारित नक्शे में विचलन और अन्य त्रुटियां पाते हुए धनबाद नगर निगम ने 36 बिल्डरों को नोटिस दिया है. निगम ने बिना नक्शा के काम कर रहे कुछ बिल्डरों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी शुरू की है. 5 अप्रैल 2016 से झारखंड बिल्डिंग बायलॉज प्रभावी है. इस नये प्रावधान के तहत 5 अप्रैल 2016 के बाद किसी भी बिल्डिंग निर्माण के लिए धनबाद नगर निगम से नक्शा पास कराना आवश्यक है. इस तिथि के बाद नये निर्माण के लिए झारखंड खनिज क्षेत्र विकास प्राधिकार से पारित नक्शे की मान्यता खत्म हो गयी है. इस तिथि के बाद हुए सभी निर्माण को ‘अवैध’ माना जाएगा. इस तिथि के बाद धनबाद नगर निगम से स्वीकृत नक्शा से ही नया निर्माण विधि सम्मत होगा. झामाडा से पारित नक्शा की नगर निगम से नयी स्वीकृति कराना आवश्यक होगा. ऐसे नक्शे को गुण-दोष या अपने माध्यम से जांच में गलत पाने पर निगम अमान्य कर सकता है.

क्या कहते हैं अपर नगर आयुक्त

धनबाद नगर निगम के अपर नगर आयुक्त महेश संथालिया ने साफ शब्दों में कहा कि निगम ने अभी तक किसी का भी नक्शा पास नहीं किया है. दबंग अवैध ढंग से निर्माण करा रहे हैं. गलत कार्य कर रहे लोगों का निगम पर दोषारोपण करना उचित नहीं है.

क्या है नया प्रावधान

5 अप्रैल 2016 से लागू झारखंड बिल्डिंग बायलाज के तहत dmc.dhanbad.gov.in वेवसाइट पर नक्शा के लिए आनलाइन अप्लाय करना है. वेवसाइट में इस संबंध में जो भी जानकारी मांगी जायेगी उसे देना होगा. पूर्व की तरह कोई भी इंजीनियर से बनाए गये नक्शा की स्वीकृति नहीं मिलेगी. नक्शा की धनबाद नगर निगम के लाइसेंसी टेक्निकल पर्सन से स्वीकृति आवश्यक होगी. नक्शा पास करने की प्रक्रिया का आवेदन की तिथि से 60 दिनों के अंदर निष्पादन किया जायेगा. यह प्रक्रिया और समय सीमा बन रही बिल्डिंग और नक्शा में विचलन आदि के मामले में लागू नहीं है. वैसी स्थिति में प्रावधान के तहत विधि सम्मत कार्रवाई की जायेगी.

क्या कहते हैं बिल्डर

धनबाद नगर निगम में नक्शा पास नहीं हो रहा है. बिल्डरों को अनावश्यक रूप से परेशान किया जा रहा है. भयादोहण के लिए तरह-तरह से परेशान किया जा रहा है. इसे लेकर कुछ दिन पहले बिल्डरों का एक प्रतिनिधिमंडल धनबाद नगर निगम के मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल से मिला था. वार्ता सौहार्दपूर्ण माहौल में हुई थी. इसके बाद भी नक्शा पास कराने का मामला टेढ़ी खीर बना हुआ है.

इसे भी पढ़ेंः अपराधियों की गोली से जख्मी सामी की मौत, शव गांव पहुंचने पर लोगों ने जाम की सड़क

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: