Lead NewsNational

संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से, एक फरवरी को पेश होगा आम बजट

New Delhi: संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से शुरू होगा और 1 जनवरी को देश का बजट पेश किया जाएगा. बजट सत्र 31 जनवरी से शुरू होकर 8 अप्रैल तक दो चरणों में चलेगा. 31 जनवरी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का संसद के दोनों सदनों में अभिभाषण होगा और इसी दिन देश का आर्थिक सर्वे भी संसद के पटल पर रखा जाएगा. 1 फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आम बजट 2022-23 पेश करेंगी.

शुक्रवार को संसदीय मामलों की कैबिनेट समिति की सिफारिशों से ये खबर सामने आई है कि संसद का बजट सत्र दो चरणों में चलेगा. सत्र का पहला भाग 31 जनवरी से 11 फरवरी तक चलेगा. एक महीने के अंतराल के बाद बजट सत्र का दूसरा भाग 14 मार्च से शुरू होगा और 8 अप्रैल तक चलेगा. बजट सत्र के दूसरे भाग में संसद में चर्चा के बाद फाइनेंस बिल को पास किया जाएगा.

advt

इसे भी पढ़ें :  पटना में हीरो वर्कशॉप में लगी आग, मची अफरा-तफरी

कोरोना संकट के बीच बजट सत्र

देश में इस समय कोरोना का संकट फिर गहरा गया है और रोजाना के मामले 2 लाख के आंकड़े को पार कर चुके हैं. कुछ दिन पहले लोकसभा के स्पीकर ओम बिरला और राज्यसभा अध्यक्ष एम वेंकैया नायडू ने बजट सत्र के संबंध में चर्चा की थी और इस सत्र के सुचारू रूप से परिपूर्ण होने के लिए आवश्यक प्रबंध करने के बारे में निर्देश दिए थे.

संसद के 718 कर्मचारी हो चुके संक्रमित

संसद भवन से जुड़े सूत्रों ने बताया कि तीसरी लहर के दौरान पिछले एक महीने में संसद भवन के 718 कर्मचारी कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं. इनमें से ज्यादातर पिछले दो सप्ताहों के दौरान संक्रमित हुए हैं. 9 जनवरी तक करीब 400 कर्मी कोरोना संक्रमित थे लेकिन बुधवार को यह आंकड़ा 700 पार कर गया था. पिछले तीन दिनों में ही करीब 43 फीसदी की वृद्धि इन आंकड़ों में हुई है.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पर बड़ी जिम्मेदारी

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का ये तीसरा बजट वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के लिए खास रहने वाला है क्योंकि कोरोना के संकटकाल में देश के आर्थिक विकास की रफ्तार बनाए रखने की जिम्मेदारी उनके ऊपर है. 1 फरवरी को पेश होने वाला आम बजट सरकार के साथ साथ उद्योगों, सूक्ष्म व्यवसायों और देश के करोड़ों लोगों की उम्मीदों को पूरा कर पाएगा या नहीं, ये देखना वित्त मंत्री के लिए कठिन हो सकता है.

इसे भी पढ़ें :  बारिश के बाद कनकनी बढ़ी, अलाव को बनाया सहारा

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: