JharkhandLead NewsNEWSRanchiTOP SLIDER

Jharkhand विधानसभा का बजट सत्र : झारखंड में फिलहाल शराबबंदी पर विचार भी नहीं: CM हेमंत

Ranchi: कांग्रेस विधायक दीपिका पांडेय सिंह ने मुख्यमंत्री प्रश्नकाल में राज्य में पूर्ण शराबबंदी की मांग की. उन्होंने कहा कि शराब के कारण घरेलू हिंसा में वृद्धि हुई है. महिला उत्पीड़न के मामले बढ़ रहे हैं. जवाब में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि फिलहाल शराबबंदी के मामला सरकार के पास विचाराधीन नहीं है. साथ ही भरोसा दिया कि महिला उत्पीड़न नहीं हो, घरेलू हिंसा पर अंकुश लगे इसपर सरकार काम कर रही है लेकिन यह कहना कि सिर्फ  शराब के कारण महिलाओं के साथ उत्पीड़न हो रहा है या घरेलू हिंसा बढ़ीं हैं, उचित नहीं है. इसके और भी कई कारण हैं. कहा कि सरकार महिला असमानता को दूर करने, महिला उत्पीड़न को रोकने के लिए कई योजनाएं चला रही है. सरकार महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए भी काम कर रही है. फूलो झानो योजना के तहत 25 हजार महिलाओं को स्वरोजगार से  जोड़ा गया है. ये सभी महिलाएं पहले दारू हड़िया बेंचती थी.

इसे भी पढ़ेंःJharkhand विधानसभा का बजट सत्र : स्थानीय नीति पर जल्द निर्णय लेगी सरकार: CM हेमंत

पुरानी पेंशन योजना पर आकलन के बाद विचार

ram janam hospital
Catalyst IAS

राजस्थान राज्य ने हालांकि अभी पुरानी पेंशन योजना लागू नहीं की है. वर्तमान में न्यू पेंशन योजना लागू है. फिलहाल पुरानी पेंशन योजना लागू करने का विचार नहीं है. विधायक प्रदीप यादव ने यह सवाल मुख्यमंत्री प्रश्न काल मे मांग किया था कि राजस्थान के तर्ज पर सरकार पुरानी पेंशन योजना लागू करेगी. इसपर मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार इसपर आकलन करने के बाद विचार करेगी.

The Royal’s
Sanjeevani

इसे भी पढ़ेंःJharkhand विधानसभा का बजट सत्र: बाबूलाल मरांडी को नेता प्रतिपक्ष का दर्जा देने की मांग को लेकर सदन में भाजपा का हंगामा

Related Articles

Back to top button