न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सीएम रघुवर दास के 16 विभागों का लगातार बढ़ रहा है बजट

पथ, बिजली, भवन, कार्मिक, गृह समेत कई महत्वपूर्ण विभाग हैं सीएम के पास

338

Deepak

Ranchi: झारखंड के कुल विभागों में से आधे के विभागीय प्रमुख खुद मुख्यमंत्री रघुवर दास हैं. इनके पास कुल 16 विभाग हैं. झारखंड में विभागों की संख्या कम कर 31 की गयी है. मुख्यमंत्री के पास के विभागों का बजट पिछले तीन वर्षों से लगातार बढ़ रहा है. मुख्यमंत्री पथ, बिजली, भवन, कार्मिक, गृह, योजना और वित्त विभाग, खनन एवं भूतत्व, मंत्रिमंडल समन्वय, मंत्रिमंडल निर्वाचन, उत्पाद एवं मद्य निषेध, सूचना और जनसंपर्क, सूचना प्राद्योगिकी और ई-गवर्नेंस, विधि, वाणिज्य कर, खान भूतत्व और उद्योग विभाग के विभागीय मंत्री हैं. इन विभागों का कुल बजट आकार 2017-18 में 17957.65 करोड़ था. यह बढ़ कर 2019-20 में 20992.88 करोड़ से अधिक हो गया है. यानी सभी महत्वपूर्ण विभागों का न सिर्फ बजट आकार बढ़ रहा है, बल्कि उनकी योजनाएं भी समय पर पूरी नहीं हो पा रही हैं.

इसे भी पढ़ें – संथाल की तीन सीटें रघुवर सरकार के लिए आदिवासी बहुल क्षेत्र में जनमत संग्रह तो नहीं

पिछले तीन वर्षों में कैसे बढ़ रहा है सीएम के पास के विभागों का बजट

SMILE
विभाग का नाम2017-182018-192019-20
मंत्रिमंडल समन्वय67.82 करोड़76.61 करोड़86.30 करोड़
मंत्रिमंडल निर्वाचन58.44 करोड़62.33 करोड़61.33 करोड़
कार्मिक, प्रशासनिक53.65 करोड़61.65 करोड़—-
गृह, कारा और आपदा471.38 करोड़560.03 करोड़555.85 करोड़
योजना और वित्त विभाग14112.2 करोड़15740.7 करोड़15557.00 करोड़
ऊर्जा विभाग600 करोड़558.01 करोड़532.32 करोड़
पथ निर्माण546.45 करोड़488.98 करोड़512.74 करोड़
भवन निर्माण636.64 करोड़644.83 करोड़706.76 करोड़
विधि विभाग418.63 करोड़463.74 करोड़482.57 करोड़
आइटी, ई-गवर्नेंस207.99 करोड़191.72 करोड़212.20 करोड़
उद्योग, खान और भूतत्व561.19 करोड़333.71 करोड़441.41 करोड़
सूचना एवं जनसंपर्क114.27 करोड़335.39 करोड़195.97 करोड़
वाणिज्य कर69.88 करोड़73.06 करोड़80.88 करोड़
उत्पाद एवं मद्य निषेध37.31 करोड़29.43 करोड़41.51 करोड़
वन एवं पर्यावरण—–——728.10 करोड़

स्त्रोत : योजना और वित्त विभाग

इसे भी पढ़ें – चतरा, गिरिडीह, देवघर और हजारीबाग में नवंबर से रुका है उर्दू शिक्षकों का वेतन, अन्य जिलों में मार्च से नहीं मिला है वेतन

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: