JharkhandRanchiTOP SLIDER

धोती-साड़ी योजना पर बजट का संकट, मौजूदा वित्तीय वर्ष में शुरू होने की उम्मीद नहीं

राज्य के करीब 58 लाख परिवारों को मिलना था लाभ

Anuj Tiwary

Ranchi: झारखंड में धोती-साड़ी योजना शुरू करने के लिए 200 करोड़ का बजट कम पड़ता जा रहा है. इसके बाद इस योजना का लाभ इस वित्तीय वर्ष नहीं बल्कि अप्रैल के बाद ही मिलने की उम्मीद जतायी जा रही है. अतिरिक्त 20-30 करोड़ राशि की जरूरत बतायी जा रही है.

सरकार ने इस योजना को शुरू करने के लिए टेंडर तो निकाल दिया है लेकिन अभी तक किसी ने इस टेंडर पर कोई खास दिलचस्पी नहीं दिखायी है. विभागीय सचिव अरुण सिंह ने बताया कि टेंडर निकाल दिया गया है और इसके लिए आवेदन आने का इंतजार किया जा रहा है.

हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि आखिर कब तक इस योजना को लागू किया जा सकता है. बजट की कमी को देखते हुए सरकार इसकी पूर्ति इमरजेंसी फंड से कर सकती है, जिसे मुख्य बजट के दौरान पूरा किया जा सकता है. लेकिन इस बाबत अभी कोई निर्णय नहीं लिया जा रहा है, जिससे टेंडर निकलने के बाद भी समस्या बनी हुई है.

इसे भी पढ़ें : हेमंत सरकार में Tax Collection का मैकेनिज्म ध्वस्त, विकास कार्यों में 20 फीसदी ही हुआ है खर्चः भाजपा

मालूम हो कि कैबिनेट ने पिछले वर्ष ही सोबरन धोती-साड़ी योजना को मंजूरी दी थी. इस योजना के लिए फिलहाल 200 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है. इससे प्रदेश के करीब 58 लाख परिवारों को लाभ मिलेगा.

ये सभी परिवार राशन लाभुक होंगे. चालू वित्तीय वर्ष में एक बार और अगले वित्तीय वर्ष से साल में दो बार लाभुकों को धोती-साड़ी अथवा लुंगी दस रुपये तक में देने की योजना है.

अगले वित्तीय वर्ष में भी शुरू की जा सकती है योजना

धोती-साड़ी येाजना को अगले वित्तीय वर्ष में भी शुरू किया जा सकता है. इस योजना को शुरू करने में जो भी समस्या आ रही है उसे दूर करने के बजाये इसे अगले वित्तीय वर्ष से शुरू किया जा सकता है.

अभी टेंडर निकाला गया है, जिसे फाइनल होने में यह माह निकल सकता है. इसके बाद किसी भी कंपनी को धोती, साड़ी व लुंगी की आपूर्ति करने में कम से कम तीन माह का वक्त लग सकता है. अगर सरकार इसकी शुरुआत भर करना चाहेगी तो इसे इसी वित्तीय वर्ष सांकेतिक रूप से बांटा जा सकता है.

सुत्रों के मुताबिक इस योजना को इस वर्ष शुरू करना उतना आसान नहीं है. इसे अगले वित्तीय वर्ष यानी अप्रैल से ही शुरू किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें : RMC के नये भवन का शुभारम्भ 18 को, मेयर ने कहा, ‘रघुवर सरकार की है देन’

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: