BusinessNational

#Budget_2020 : RSS से जुड़े संगठन BMS की LIC, IDBI में हिस्सेदारी बेचने पर आपत्ति, मोदी सरकार को दी सलाह

NewDelhi : RSS का संगठन भारतीय मजदूर संघ  बजट 2020- 21 में केंद्र सरकार द्वारा एलआईसी और आईडीबीआई बैंक में हिस्सेदारी बेचने के फैसले से नाराज है. खबर है कि RSS से जुड़े भारतीय मजदूर संघ (BMS) ने कहा कि सरकार ने एलआईसी और आईडीबीआई बैंक को बेचने के लिए जो कदम उठाये हैं वो बहुत घातक हैं. जान लें कि BMS का यह बयान शनिवार शाम वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा वित्त बजट पेश करने के बाद आया है.

BMS ने कहा कि राष्ट्र की संपत्तियों को बेचकर धन जुटाने का तरीका खराब अर्थशास्त्र का उदाहरण है. कहा कि सरकार असहाय रूप से राजस्व सृजन के लिए राष्ट्रीय धन की बिक्री पर निर्भर है.  संगठन ने केंद्र के आर्थिक सलाहकारों और नौकरशाहों पर भी हमला बोला है.

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसे भी पढ़ें : #Budget_2020 :  वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बजट में क्या-क्या हुआ महंगा और क्या हुआ सस्ता

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

सरकार राष्ट्र की संपत्तियों को बेचे बगैर राजस्व जुटाने का मॉडल तैयार करे

भारतीय मजदूर संघ ने सरकार को सलाह देते हुए कहा कि बेहतर हो कि सरकार राष्ट्र की संपत्तियों के बेचे बगैर राजस्व जुटाने का कोई मॉडल तैयार करे.  संगठन ने कहा, भारतीय जीवन बीमा निगम देश के मध्यम वर्ग की बचत को सुरक्षित रखने वाला उपक्रम है.  आईडीबीआई एक ऐसा बैंक है जो छोटे उद्योगों को वित्तपोषित करता है. इसलिए दोनों उपक्रमों में हिस्सेदारी बेचने का खामियाजा सरकार भुगतना पड़ेगा.

एलआईसी  के शेयर बाजारों में सूचीबद्ध कराया जायेगा

बता दें कि सरकार ने अपने विनिवेश कार्यक्रम के तहत देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) में अपनी कुछ हिस्सेदारी आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के जरिए बेचने की घोषणा की है.  वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को लोकसभा में 2020-21 का बजट भाषण पढ़ते हुए यह प्रस्ताव किया.  उन्होंने कहा कि एलआईसी के शेयर बाजारों में सूचीबद्ध कराया जायेगा.

वित्त मंत्री ने कहा कि सूचीबद्धता से कंपनियों में वित्तीय अनुशासन बढ़ता है. सीतारमण ने कहा कि सरकार का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के जरिए एलआईसी में अपनी कुछ हिस्सेदारी बेचने का प्रस्ताव है. अभी एलआईसी की पूरी हिस्सेदारी सरकार के पास है.

इसे भी पढ़ें : #Budget2020: राहुल ने कहा, बजट में बेरोजगारी से निपटने का कोई विचार नहीं, माकपा ने कहा कि सिर्फ बेकार की बातें

आईडीबीआई बैंक में सरकार की शेष हिस्सेदारी को भी  बेचने का प्रस्ताव

बजट में आईडीबीआई बैंक में सरकार की शेष हिस्सेदारी को भी निवेशकों को बेचने का प्रस्ताव है. आईडीबीआई बैंक में सरकार की बची हुई पूरी हिस्सेदारी खुदरा निवेशकों को बेचने की घोषणा करने के बाद शनिवार को कंपनी का शेयर 10 प्रतिशत तक चढ़ गया. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में आम बजट 2020-21 में आईडीबीआई बैंक की बची हिस्सेदारी खुदरा निवेशकों को बेचने की घोषणा की.

बीएसई पर बैंक का शेयर दिन में कारोबार के दौरान 17.55 प्रतिशत चढ़कर 39.85 रुपए तक चढ़ गया.  बाद में 10.03 प्रतिशत की बढ़त के साथ 37.30 रुपए पर बंद हुआ.  इसी तरह एनएसई पर बैंक का शेयर 10.20 प्रतिशत बढ़कर 37.25 रुपये पर बंद हुआ.

इसे भी पढ़ें : #CoronaVirus: वुहान से 323 भारतीयों और मालदीव के सात नागरिकों के साथ रवाना हुआ AirIndia का विमान

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button