BokaroJharkhandRanchi

लगातार घाटे में चल रही बीएसएल ने अधिकारियों को बांटी कार

Bokaro/Ranchi: बोकारो स्टील सिटी इन दिनों झारखंड में चर्चा का विषय बना हुआ है. बोकारो स्टील प्लांट(बीएसएल) द्वारा जीएम रैंक तक के अधिकारियों के लिए 35 होंडा अमेज कार खरीदी गई है. इसकी कुल कीमत लगभग 3.70 करोड़ रूपये है. सबसे कमाल की बात है कि लगातार दो सालों से बीएसएल प्लांट घाटे में चल रहा है.

इसे भी पढ़ेंःबोकारो: दो सालों में भी नहीं बना सामुदायिक शौचालय, ONGC ने उठाया था बीड़ा

यहां के मजदूरों को वेतन एवं अन्य सुविधाओं में यह बोलकर बीएसएल प्रबंधन कौटती कर रही है कि प्लांट की स्थिति ठीक नहीं है. बीएसएल घाटे में चल रहा है. वही दूसरी ओर बीएसएल प्रबंधन अधिकारियों के लिए गिफ्ट में कार वितरण कर रही है, लेकिन मजदूरों का हाल इन दिनों काफी बेहाल है.

Catalyst IAS
SIP abacus

बोनस पर संशय 

MDLM
Sanjeevani

वहीं दुर्गा पूजा के दौरान मिलने वाले बोनस पर बीएसएल की स्थिति स्पष्ट नहीं कि इस साल मजदूरों को बोनस मिलेगा या नहीं. अगर मिलेगा भी तो कितना बोनस उन्हें दिया जायेगा. बीएसएल प्लांट लौह उत्पादन का श्रेय यहां के मजूदरों की कड़ी मेहनत को जाता है. लेकिन बीएसएल प्रबंधन सुविधा के नाम पर केवल सेल के अधिकारियों का ख्याल रखता है. प्लांट में दैनिक और नियमित मजदूरों की स्थिति खराब होती जा रही है. अधिकारियों द्वारा प्लांट के अंदर ठेकेदारी सिस्टम को बढ़ावा दिया जा रहा एवं इसके माध्यम से दैनिक एवं नियमित मजदूरों को शोषण किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें-केंद्र ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना का नाम बदलकर कर दिया आयुष्मान भारत

खराब सड़क और जर्जर आवास में रहने को मजूबर बीएसएल कर्मी

बीएसएल के टाउनशीप इलाके में सड़क की स्थिति दिनों-दिन खराब होते जा रही है. बीएसएल के मजदूर जिन सेक्टरों में रहते हैं, वहां की स्थिति भी काफी दयनीय है. सेक्टरों में आवासों की हालत इतनी खराब है कि ये आवास कभी भी ढह सकते हैं. टाउनशीप इलाके में बिजली एवं पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं को घोर अभाव है.

इसे भी पढ़ें : PMAY: कैसे घर बनाएं हुजूर, जमादार मांग रहा 40 हजार

मजदूरों को हर सुविधा दी जायेगी- बीएसएल

बीएसएल के पीआरओ मतिकांत धान ने कहा कि बीएसएल द्वारा जीएम रैंक तक के अधिकारियों को कार प्रदान की गयी है. अधिकारियों के पुराने वाहनों के रख-रखाव में ज्यादा खर्च आ रहा था. इसलिए अधिकारियों को नयी गाड़ियां दी गयी हैं. मजदूरों की जहां तक सुविधा का सवाल है, उनके लिए बीएसएल हर संभव प्रयास कर रही है.

जल्द ही टाउनशीप इलाके में सड़क निमार्ण का कार्य आरंभ किया जायेगा. बारिश के बाद विभिन्न सेक्टरों में कुल 70 किलोमीटर की सड़क बीएसएल की माध्यम से बनायी जायेगी. मजदूरों को बोनस और वेतनमान कोलकाता से तय होता है, बीएसएल अपने स्तर से इस दिशा मे कोई पहल नहीं कर सकता.

Related Articles

Back to top button