National

ब्रिटेन ने जम्मू कश्मीर गये अपने नागरिकों को सतर्क रहने की सलाह दी   

London :  ब्रिटेन की सरकार ने जम्मू कश्मीर की यात्रा करने वाले अपने नागरिकों के लिए शनिवार को नया यात्रा परामर्श जारी किया. कश्मीर में सुरक्षा के खतरे के मद्देनजर मीडिया की खबरों का हवाला देते हुए नागरिकों से सतर्कता बरतने और ताजा घटनाओं से वाकिफ रहने को कहा गया है . विदेश और राष्ट्रमंडल कार्यालय (एफसीओ) ने अपने परामर्श को अद्यतन (अपडेट) किया है.

एक दिन पहले ही जम्मू कश्मीर प्रशासन ने सुरक्षा कारणों से वार्षिक अमरनाथ यात्रा रोक दी और परामर्श जारी कर श्रद्धालुओं और पर्यटकों को जल्द से जल्द लौटने को कहा था.  एफसीओ ने कहा कि अपने परामर्श में पहलगाम, गुलमर्ग और सोनमर्ग जैसे पर्यटन स्थलों सहित उत्तरी राज्य में यात्रा के प्रति पहले ही सचेत किया जा चुका है. एफसीओ ने कहा है.

इसे भी पढ़े :  रिजर्व बैंक के बैलेंस शीट में सरकार का दखल अच्छा नहीं: सुब्बाराव

advt

ब्रिटिश उच्चायोग हालात पर नजर रखे हुए है

दो अगस्त को भारतीय मीडिया ने खबर दी थी कि जम्मू कश्मीर सरकार ने अमरनाथ यात्रा के श्रद्धालुओं को सुरक्षा खतरों के कारण कश्मीर घाटी की यात्रा में तुरंत कटौती करने और जितना जल्द संभव हो घर लौटने को कहा है.  एफसीओ ने कहा, नयी दिल्ली में ब्रिटिश उच्चायोग हालात पर नजर रखे हुए है. अगर आप जम्मू कश्मीर मैं हैं तो आपको सतर्क रहना चाहिए,

स्थानीय प्रशासन के परामर्श का पालन करना चाहिए और इस यात्रा परामर्श सहित तमाम गतिविधि से वाकिफ रहना चाहिए. भारत में यात्रा कर रहे ब्रिटिश नागरिकों को भी व्यापक परामर्श में आतंकवादी हमले के खतरे को लेकर भी आगाह किया गया है.  परामर्श में कहा गया है कि हालिया हमलों में विदेशियों के आगमन वाले सार्वजनिक स्थानों को निशाना बनाया गया है. हाल में मीडिया की खबरों में कहा गया कि भारत में हमला करने में दाएश (पहले आईएसआईएल कहा जाता था) का भी हित हो सकता है.

ब्रिटिश नागरिकों के आगमन वाले स्थानों पर खतरा बढ़ गया है.  इनमें धार्मिक स्थान, बाजार, बीच (समुद्र तट) हैं। आपको इस बार सतर्क रहना चाहिए और अपनी सुरक्षा के लिए ऐहतियात बरतना चाहिए.  यात्रा को लेकर एफसीओ के इस परामर्श का मकसद ब्रिटिश नागरिकों को विभिन्न स्थानों की यात्रा सूचना से वाकिफ कराना है.

इसे भी पढ़े : कांग्रेस ने अमरनाथ यात्रा रोके जाने की निंदा की, कहा, डर का माहौल पैदा कर रही सरकार

 

adv
advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button