न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

25 रुपये प्रति यूनिट स्ट्रीट लाइट लगाने को तैयार है ब्राइट कंपनी, 34 रुपये में #EESL  कर रही काम

बोर्ड बैठक में पार्षदों का हंगामा,  सफाईकर्मियों को प्रतिदिन मिलेगा 314 रुपये

637

Ranchi : राजधानी के विभिन्न मार्गों पर लगी स्ट्रीट लाइटों को लगाने और उसके मेंटेनेंस में एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) 34 रुपये खर्च करती है.

जब लाइट में कोई खराबी होती है, तो पार्षदों के शिकायत के बावजूद कंपनी के अधिकारी काम की अनदेखी करते है. इसे लेकर सोमवार को निगम परिषद की बैठक में पार्षदों ने जमकर हंगामा किया.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

पार्षदों का कहना है कि 34 रुपये में काम लेकर ईईएसएल ने यह काम पेटी कांट्रेक्ट में एक एजेंसी को दिया है. एजेंसी को इस काम के लिए 17 रुपये मिलते हैं.

पार्षदों ने कहा कि कंपनी का काम संतोषजनक नहीं है. वहीं पहले काम कर चुकी ब्राइट कंपनी केवल 25 रुपये में काम करने को तैयार है.

पार्षदों की नाराजगी देख मेयर आशा लकड़ा ने एक सप्ताह में ठोस कार्रवाई करने का आश्वासन दिया.

बैठक में सफाईकर्मियों के वेतन बढ़ोतरी, वाटर टैक्स की वसूली सहित कई मुद्दों पर सहमति भी बनी. इस दौरान डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय, नगर आयुक्त मनोज कुमार सहित कई अधिकारी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें : #Ranchi के स्कूलों में नर्सरी, यूकेजी की एडमिशन फीस 45000 तक, जानें किस स्कूल की कितनी है फीस

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

प्रति मजदूर प्रतिदिन 314 रुपये दिया जायेगा वेतन

मेयर ने बताया कि बैठक में सफाई का काम कर रहे कर्मियों के वेतन का मामला भी उठा. इसपर सहमति बनी कि अब से प्रति मजदूर प्रतिदिन 314 रुपये वेतन दिया जायेगा.

इस राशि से आगे और कितना वेतन दिया जा सकता है, उसके लिए एक कमेटी फैसला करेगी. यह वेतन करीब 2000 से अधिक कर्मियों के लिए बढ़ाया जायेगा.

कमेटी में मेयर, डिप्टी मेयर व अधिकारियों को रखा गया है. यह कमेटी तीन दिन में रिपोर्ट देगी. इसी आधार पर कर्मचारियों को वेतन दिया जायेगा.

मेयर ने कहा कि 2014 के पहले मजदूरों को प्रति दिन के हिसाब से 65 रुपये मिलता था. उसके बाद 200 के करीब किया गया. अब राशि बढ़ाकर 314 रुपये किया गया है.

इसे भी पढ़ें : लोहरदगा में CAA के समर्थन में निकाले गये जुलूस पर हुए पथराव में घायल नीरज प्रजापति की रिम्स में हुई मौत

3000 स्क्वायर फीट से ऊपर के घऱों में रेन वाटर हार्वेस्टिंग अनिवार्य

उन्होंने बताया कि निगम के चार जोन की संकरे गलियों में जितने भी ढ़की हुई नालियां हैं, उसके सफाई करने में मजदूरों को काफी परेशानी होती है.

इसे देख निगम जल्द ही ऐसी मशीन खरीदेगा, जिससे कर्मियों को गंदगी निकालने में सहुलियत हो. गर्मियों को देखते हुए जलापूर्ति पर सहमति बनी कि निगम अपने खर्चे पर कई वार्डों में बोरिंग करायेगा.

3000 स्क्वायर फीट से उपर के घऱों में रेन वाटर हार्वेस्टिंग अनिवार्य कराने के लिए जल्द ही एक निर्देश निकाला जायेगा. पिछले वर्षों में निगम क्षेत्र में करीब 42000 स्ट्रीट लाइटें लगी थी.

जल्द ही 13,500 और लाइटें निगम को मिलेगी. अगले 15 दिनों तक शहर के ऐसे मोहल्ले जहां एलईडी लाइट नहीं लगे हैं, निगम उन गलियों में एलइडी लाइट लगाने का काम शुरू कर देगा.

इसे भी पढ़ें : #Homeguards के बकाया मानदेय भुगतान के लिए सीएम ने दी 32 करोड़ की स्वीकृति

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like