Crime NewsJharkhandLead NewsNEWSTOP SLIDER

Breaking: जज उत्तम आनंद को धक्का मारने वाला टेंपो गिरिडीह से बरामद, चालक समेत तीन हिरासत में

Dhanbad/Giridih: धनबाद अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश उत्तम आनंद की मौत मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. जिस टेंपो से जज आनंद को धक्का मारा गया था वह गिरिडीह से बरामद हो गया है. टेंपो के साथ ही पुलिस ने दो लोगों को हिरासत में लिया है.  गिरिडीह के मुफ्फिसल थाना इलाके के डांडीडीह से टेंपो बरामद हुआ है. हिरासत में लिये गये लोगों में पिन्टू वर्मा और राहुल वर्मा शामिल है. धनबाद पुलिस दोनों को अपने साथ ले गई है. दूसरी ओर पुलिस ने धनबाद पाथरडीह बस स्टेंड के समीप स्थित गुलगुलिया बस्ती से टेंपो चालक गोपाल को भी हिरासत में लिया है.

 

दोनों पिन्टू और राहुल वर्मा आपस में रिश्तेदार बताए जा रहे हैं. हालांकि , यह स्पस्ट नहीं हो पाया  है कि जज की हत्या में इन दोनों का ही हाथ है. मामला हाईप्रोफाइल होने की वजह  से कई जिलों की पुलिस खुलासे में जुटी है. अलग-अलग पुलिस टीम मामले में शामिल लोगों की धर-पकड़ के लिये अलग-अलग जगहों पर छापेमारी कर रही है.

advt

 

इसे भी पढ़ेंःअनलॉक झारखंडः आपदा प्रबंधन की बैठक आज, कई और पाबंदियों में मिल सकती है छूट

मालूम हो कि बुधवार सुबह मार्निंग वाक पर निकले जज टेपो से धक्का मार दिया गया था. घर से ही कुछ दूरी पर वह खून से लथपथ मिले थे. बाद में उनकी मौत हो गई थी. पुलिस की जांच आगे बढ़ने के साथ ही यह धीरे-धीरे स्पष्ट हो रहा है कि जज उत्तम आनंद की मौत महज एक हादसा नहीं बल्कि हत्या की सुनियोजित साजिश है. सीसीटीवी फुटेज से सब साफ जाहिर हो रहा है. जज को उड़ाने के लिए जिस ऑटो का प्रयोग हुआ वह पाथरडीह की सुगनी देवी की है. सुगनी के अनुसार उसका ऑटो चोरी हो गया. तड़के घटना को अंजाम दिया गया.

इसे भी पढ़ें : जज उत्तम आनंद मौत मामलाः हाईकोर्ट ने डीजीपी को किया तलब, कहा-राज्य में क्या हो रहा है

इधर, जज उत्तम आनंद के परिजन मामले की सीबीआइ जांच की मांग कर रहे हैं. गुरुवार को उनके हज़ारीबाग शिवपुरी स्थिति आवास पर संवेदना जताने वालों लोगों का तांता लगा हुआ है. इस बीच देर रात जज उत्तम आनंद का पार्थिव शरीर धनबाद से हजारीबाग ले जाया गया. आज उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.

जज उत्तम आनंद कई बहुचर्चित मामलों की सुनवाई कर रहे थे जिनमें रंजय सिंह हत्याकांड भी शामिल है. न्यायाधीश उत्तम आनंद ने तीन दिन पूर्व यू पी के शूटर अमन सिंह के एक शागिर्द की ज़मानत याचिका भी ख़ारिज की थी.

इसे भी पढ़ें : थर्ड वेव की आहट : केरल में कोरोना ने मचाया कोहराम, 31 जुलाई व 1 अगस्त को कंप्लीट लॉकडाउन

 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: