JharkhandLead NewsNEWSRanchiTOP SLIDER

BREAKING NEWS: विशाल चौधरी के ठिकाने पर भारी मात्रा में नकदी बरामद, ईडी ने नोट गिनने की मशीन मंगवाई

दुर्गा डेवलपर्स के अनिल झा व विशाल चौधरी के आवास पर रेड

Ranchi: साहेबगंज के डीएमओ विभूति कुमार से मिले इनपुट के बाद आज सुबह से ईडी बड़ी कार्रावाई में जुट गई है. झारखंड व बिहार के विभिन्न स्थानों पर एक साथ छापेमारी कर रही है. रांची में भगवती कंस्ट्रक्शन के एनके झा, दुर्गा कंस्ट्र्क्शन के अनिल झा के करीब छह ठिकानों पर छापेमारी चल रही है. भगवती कंस्ट्रक्शन के अशोकनगर स्थित ठिकाने पर भी ईडी ने दबिश दी है. माना जा रहा है कि अनिल झा के दुर्गा कंस्ट्रक्शन और पूजा सिंघल के बीच संबंध की जानकारी ईडी को मिली है. रांची में विशाल चौधरी के ठिकानों पर भी रेड चल रही है. विशाल चौधरी के अशोक नगर गेट नंबर छह स्थित आवास पर ईडी की टीम जमी हुई है. चौधरी कौशल विकास से जुड़े बताए जा रहे हैं. चौधरी राज्य के एक वरिष्ठतम अधिकारी जो फिलहाल सत्ता के काफी करीब हैं, उनके करीबी बताए जा रहे हैं. चौधरी के आवास पर ईडी के वरिष्ठ अधिकारी लगातार पहुंच रहे हैं. मिल रही सूचना के अनुसार विशाल चौधरी के ठिकाने से भारी मात्रा में नकदी बरामद हुई थी. ईडी ने नकदी गिनने के लिए बैंक नोट गिनने की मशीन मंगवाई है. मालूम हो कि इससे पहले आइएएस पूजा सिंघल के सीए सुमन कुमार सिंह के 17 करोड़ से अधिक राशि की नकदी बरामद हुई थी, तब भी ईडी ने नोट गिनने के लिए मशीन का सहारा लिया था.

Catalyst IAS
SIP abacus

रांची में नामकुम के रामपुर में भी ईडी की छापेमारी चल रही है. इधर, मिल रही सूचना के अनुसार बिहार के पटना व मुजफ्फपुर में विभिन्न स्थानों पर छापेमारी की जा रही है.

MDLM
Sanjeevani

मालूम हो कि ईडी आइएएस पूजा सिंघल के ठिकानों पर दबिश देने के बाद से लगातार कई लोगों से पूछताछ कर रही है. इनमें अभी तक सबसे अहम साहेबगंज के डीएमओ विभूति कुमार से पूछताछ को अहम माना जा रहा है. कल ईडी ने विभूति कुमार व पूजा सिंघल से एक साथ पूछताछ की थी. इसी पूछताछ के दौरान मिले इनपुट के आधार पर आज छापेमारी हो रही है. बताया जा रहा है कि पूछताछ में कई नए नामों का खुलासा हुआ है. जाहिर है ईडी ऐसे लोगों के रिकार्ड को भी खंगालने में जुटी है.

निशित केशरी के कई ठिकानों पर भी छापेमारी

वही आईएएस के करीबी विशाल चौधरी के विनायका ग्रुप पर छापेमारी चल रही है. विशाल चौधरी पर अवैध कमाई का निवेश करने का आरोप है. पुंदाग स्थित निशित केशरी के कई ठिकाने पर ईडी की छापेमारी चल रही है. ओक फोरेस्ट कंपनी में निशित केशरी का स्वामित्व है.

Related Articles

Back to top button