न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हटिया और नामकुम ग्रिड ब्रेक डाउन, रांची से पलामू तक ब्लैक आउट

हटिया और नामकुम ग्रिड फेल होने से पलामू में छाया अंधेरा

1,252

Palamu: पलामू जिले में शुक्रवार सवेरे से ही ब्लैक आउट की स्थिति बनी हुई है. बिजली नहीं रहने से लोग परेशान हैं. बिजली के अभाव मे जहां एक तरफ लोगों का कामकाज प्रभावित हुआ है, वहीं लोग गर्मी से त्राहिमाम कर रहे हैं. पिछले कई दिनों से जिले में बारिश नहीं होने से तापमान में बढ़ोतरी हुई है. शुक्रवार को यहां का अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस रहा. इसके साथ ही आद्रता काफी बढ़ी हुई है. इस कारण लोग उमस से बेहाल हैं. ऐसे में बिजली नहीं मिलने से लोगों में आक्रोश है.

इसे भी पढ़ें-क्या अब मुस्लिम अफसर होना भी गुनाह हो गया !

क्यों नहीं है बिजली ?

पावर ग्रिड कॉरपेरेशन ऑफ इंडिया से हटिया तक आई 220 केवीए लाइन के ब्रेक डाउन हो जाने के कारण हटिया ग्रिड ठप पड़ गया है. इसी वजह से जहां-जहां हटिया ग्रिड से बिजली सप्लाई होती है, वहां-वहां ब्लैड आउट है. रांची में नामकुम ग्रिड के भी प्रभावित होने की सूचना है. इस वजह से रांची में भी ब्लैक आउट की स्थिति है. केवल कांके ग्रिड से रांची को बिजली मिल रही है. इससे विधानसभा क्षेत्र वाले इलाके में आपूर्ति हो रही है.

इसे भी पढ़ें-सीएम के खिलाफ मोर्चा खोल लोगों ने कहा- बताएं टाटा लीज से बाहर क्यों नहीं हुई बस्तियां

इधर, बिजली निगम के अभियंता फॉल्ट ढूंढने का प्रयास कर रहे हैं. लेकिन समाचार लिखे जाने तक वे फॉल्ट नहीं ढूंढ पाये थे. हटिया ग्रिड के ठप पड़ जाने से न केवल रांची बल्कि डालटनगंज, लातेहार और लोहरदगा में भी ब्लैक आउट की स्थिति है.

कब आयेगी बिजली ?

पलामू जिले में बिजली कब तक बहाल हो पायेगी, यह बता पाने में विद्युत विभाग के स्थानीय अधिकारी असमर्थ हैं. विभाग के अधिक्षण अभियंता बी. पॉल ने बताया कि बिजली निगम के इंजीनियर फॉल्ट दूर करने में लगे हुए हैं. उन्होंने कहा कि यह स्थानीय फॉल्ट नहीं है. इसलिए वे यह बता पाने में सक्षम नहीं है कि बिजली कब आयेगी? हालांकि उन्होंने इस संबंध में ट्रांसमिशन से बात करने का सुझाव अवश्य दिया. स्थिति जानने के लिए ट्रांसमिशन में कई बार फोन लगाया गया, लेकिन किसी ने रिसीव नहीं किया.

silk_park

इसे भी पढ़ें- पलामू: ICICI बैंक लूट के 54 लाख रुपये में से 52 लाख रुपये बरामद

क्यों आयी ऐसी नौबत ?

दो महीने पहले तक पलामू जिले को नेशनल ग्रिड से बिजली मिलती थी. हालांकि मई महीने में पीजीसीआईएल का दो टावर सासाराम के पास धाराशायी हो गया और पलामू में ब्लैक आउट की स्थिति बन गयी थी. इससे उबरने के लिए डालटनगंज को हटिया ग्रिड से जोड़ा गया था. तब जाकर पलामू में बिजली बहाल हो पायी थी. तब से हटिया ग्रिड से पलामू को बिजली मिलती रही है. अब तक इसे फिर से नेशनल ग्रिड से नहीं जोड़ा गया है. बताया जाता है कि अभी टावर चार्ज हो रहा है. अगर पलामू को पुनः नेशनल ग्रिड से जोड़ा गया होता तो आज यह नौबत नहीं आती.

इसे भी पढ़ें लोकसभा : राहुल ने कहा, पीएम मोदी नर्वस दिख रहे हैं, भाषण खत्म कर मोदी को गले लगाया

क्या है विकल्प ?

जिस प्रकार पलामू में ब्लैक आउट की अवधि लंबी हो रही है, वैसे में यहां के अधिकारियों को जनता को राहत देने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था पर जोर देना चाहिए. जब तक हटिया ग्रिड का फॉल्ट दूर नहीं होता, तब तक बिहार के सोन नगर से बिजली बहाल की जा सकती है. पिछली बार जब नेशनल ग्रिड से पलामू का सम्पर्क कटा था, तो कुछ समय के लिए यह प्रयोग किया गया था. हालांकि सूत्र बताते हैं कि स्थानीय अधिकारी हटिया ग्रिड के ठीक होने का इंतजार कर रहे हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: