Lead NewsWorld

अमेरिकी रेस्त्रां में ब्राजील के राष्ट्रपति को नहीं मिली एंट्री, जानें क्यों फुटपाथ पर खड़े होकर खाना पड़ा पिज्जा

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र में भाग लेने के लिए अमेरिका गये हैं राष्ट्रपति

New Delhi : विदेश के कई देशों में काफी कड़ाई से नियमों का पालन किया जाता है. इसका एक ताजा उदाहरण अभी अमेरिका से सामने आया है. संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र में भाग लेने के लिए तमाम देशों के राष्ट्राध्यक्ष अमेरिका में हैं. इसी बीच अमेरिका से ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो की एक फोटो सामने आई है जो काफी सुर्खियां बटोर रही है.

इस फोटो में ब्राजील के राष्ट्रपति बोल्सोनारो अमेरिका में फुटपाथ पर खड़े होकर पिज्जा खा रहे हैं. फोटो देखकर हर किसी के मन में एक ही सवाल है कि आखिर किसी देश के राष्ट्राध्यक्ष जो संयुक्त राष्ट्र महासभा में हिस्सा लेने आया हो वे ऐसे सड़क किनारे खड़े होकर पिज्जा खा रहे हैं इसकी क्या वजह है. तो बता दें कि इसके पीछे की वजह है कोरोना वैक्सीन.

इसे भी पढ़ें:झांसा देकर कई वर्षों तक किया यौन शोषण, शादी से बचने के लिए दिया ज्योतिष कुंडली का हवाला, कोर्ट ने कहा- नहीं चलेगा ये बहाना

advt

इसलिए फुटपाथ पर खड़े रहे

जी हां, अमेरिका के होटलों/ रेस्तरां में एंट्री के लिए कोरोना वैक्सीन लगवाने का प्रूफ साथ में होना जरूरी है, बिना इसके किसी को भी होटल या रेस्तरां में एंट्री नहीं मिलेगी.

इसलिए राष्ट्रपति बोल्सोनारो और उनके साथ के लोगों को रेस्तरां में एंट्री नहीं मिल सकी, क्योंकि उनके पास वैक्सीनेशन का प्रूफ नहीं था और उनको बाहर खड़े होकर ही पिज्जा खाना पड़ा.

इसे भी पढ़ें:ICC Women’s Ranking: भारतीय कप्तान मिताली राज फिर से No.1 , स्मृति मंधाना और दीप्ति शर्मा को भी फायदा

बोल्सोनारो ने अभी तक नहीं लगवाई है कोरोना रोधी वैक्सीन

ब्राजील के राष्ट्रपति के प्रतिनिधिमंडल में शामिल मंत्रियों ने रविवार रात न्यूयॉर्क के फुटपाथ से सहयोगियों के साथ तस्वीर पोस्ट की थी जिसमें बोल्सोनारो भी पिज्जा के स्लाइस खा रहे थे.

रॉयटर्स के मुताबिक, बोल्सोनारो ने अभी तक वैक्सीन नहीं लगवाई है. बोल्सोनारो का कहना है कि उनकी इम्युनिटी कोरोना वायरस से लड़ने के लिए मजबूत है.

इसे भी पढ़ें:ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक को दिल्ली HC से झटका, ED के समन पर रोक लगाने से इनकार

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: