न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

 ब्रह्मोस जासूसीकांड: अदालत ने इंजीनियर निशांत को सात दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा

ब्रह्मोस एयरोस्पेस के सीनियर सिस्टम इंजीनियर निशांत अग्रवाल को लखनऊ की स्थानीय अदालत ने सात दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया. बता दें कि निशांत को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई को संवेदनशील सूचनाएं देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था

84

 Lucknow : ब्रह्मोस एयरोस्पेस के सीनियर सिस्टम इंजीनियर निशांत अग्रवाल को लखनऊ की स्थानीय अदालत ने सात दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया. बता दें कि निशांत को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई को संवेदनशील सूचनाएं देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. विशेष मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी हिमांशु दयाल श्रीवास्तव ने इंस्पेक्टर पंकज अवस्थी की अर्जी पर निशांत को रिमांड पर भेजने का आदेश दिया. यूपी एटीएस ने निशांत से उसके सहयोगियों के बारे में पूछताछ करने के लिए अदालत से  रिमांड मांगी थी.  हालांकि निशांत के वकील ने रिमांड का यह कहते हुए विरोध किया कि उनका मुवक्किल एक युवा वैज्ञानिक है और उसे साजिश के तहत फंसाया जा रहा है.  

दोनों पक्षों को सुनने के बाद अदालत ने कहा कि निशांत के लैपटॉप से मिली सूचनाएं गोपनीय और प्रतिबंधित किस्म की हैं. इस क्रम में अदालत ने निशांत द्वारा फेसबुक पर उन आईडी से बातचीत करने के मामले को भी संज्ञान में लिया, जिनका संचालन पाकिस्तान से किये जाने की बात कही गयी है.

इसे भी पढ़ेंःराफेल डील : पाक सीनेटर मलिक का ट्वीट, राहुल गांधी मोदी को एक्सपोज करने के लिए सही रणनीति अपना रहे…

 यूपी एटीएस और महाराष्ट्र एटीएस ने निशांत को आठ अक्तूबर को गिरफ्तार किया था

जान लें कि यूपी एटीएस और महाराष्ट्र एटीएस ने निशांत को आठ अक्तूबर को गिरफ्तार किया था. उसकी जमानत कैंसल हो की जा चुकी है. ब्रह्मोस एयरोस्पेस भारत और रूस का संयुक्त उपक्रम है.  खबरों के अनुसार निशांत 31 जुलाई 2013 को मिशन ब्रह्मोस से जुड़ा था. निशांत नागपुर यूनिट में हाइड्रोलिक न्यूमेटिक्स और वॉरहेड इंटिग्रेशन प्रॉडक्शन से जुड़ा हुआ था और  लगभग 40 लोगों की टीम का नेतृत्व कर रहा था. पूर्व में  नोएडा से गिरफ्तार बीएसएफ कॉन्स्टेबल अच्युतानंद मिश्रा से पूछताछ के बाद90 से ज्यादा भारतीय फेसबुक आईडी के बारे में जानकारी मिली थी,जो पाकिस्तान की फेक फेसबुक आईडी के संपर्क में थीं.  सूत्रों के अनुसार सबसे ज्यादा चैटिंग करने वाली 10 फेसबुक आईडी की जांच की गयी. इस क्रम में पता चला कि नागपुर, आगरा और कानपुर से जुड़ी तीन आईडी से दो साल से ज्यादा समय से पाकिस्तान बेस्ड फेसबुक आईडी से चैट किया जा रहा था. जानकारी के अनुसार इन ठिकानों पर यूपी एटीएस की अलग-अलग टीमों ने सोमवार को छापा मारा था. 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Open

Close
%d bloggers like this: