न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#MakeMyTrip से रुम बुक कराया, होटल महादेव पैलेस ने कर ली ऑनलाइन ठगी

देवघर के होटल महादेव में नहीं सुनी जाती है ग्राहकों की शिकायत

388

Ranchi: अगर आप अक्‍सर टूर पर रहते हैं और होटल में ठहरते हैं तो यह खबर आपके लिए हैं. होटलों में ऑनलाइन पेमेंट को लेकर अब ठगी के मामले भी सामने आ रहे हैं. ऐसा ही एक मामला देवघर के होटल महादेव पैलेस में देखने को मिला है.

जानकारी के अनुसार देवघर के होटल महादेव में एक होटलवालों ने एक पत्रकार को ही चूना लगा लिया. रांची के वरिष्‍ठ पत्रकार रवि प्रकाश ने 27-29 मई की रात ठहरने के लिए यहां बुकिंग करायी थी.  उन्‍होंने #MakeMyTrip से ऑनलाइन बुकिंग थी. नियमानुसार उसका एडवांस पेमेंट भी कर दिया.

इसे भी पढ़ें – धनबाद : टोटल फेल्योर एसएसपी चोथे पर मेहरबानी…क्या वजह हो सकती है

hosp1

डेबिट कार्ड से पेमेंट करने पर यात्री विहार के लिए पैसा कटने का आता है मैसेज

पैसे कटने के बाद आया बैंक का एसएमएस

29 मई को चेकआउट के समय फूड बिल के एवज में उन्‍होंने 1505 रुपये का भुगतान अपने डेबिट कार्ड से किया. लेकिन, तब वहाँ मौजूद महिला फ़्रंट मैनेजर ने उन्‍हे बताया कि यह ट्रांजिक्शन फ़ेल कर गया है. लेकिन इसी बीच उन्‍हे बैंक का SMS मिला, जिसमें उतनी राशि होटल के यात्री विहार के नाम से बने बैंक अकाउंट में ट्रांसफ़र हो जाने की बात लिखी थी. उक्त SMS दिखाने के बावजूद फ़्रंट मैनेजर ट्रांजिक्शन फ़ेल होने की रट लगाती रही.

तब उन्होंने कहा कि आप कैश पेमेंट कर दीजिए. हमलोग शाम में अकाउंट वेरीफाई करेंगे. अगर आपका पैसा आ गया होगा तो 24 घंटे के अंदर आपके अकाउंट में वापस कर देंगे. आपको फ़ोन कर बता भी देंगे कि पेमेंट का स्टेटस क्या है. तब उन्‍होने कैश पेमेंट भी कर दिया. मतलब 1505 के बदले मैंने 3010 रुपये का पेमेंट कर दिया गया.

इसे भी पढ़ें – देखिये रिम्स के जूनि. डॉ. की दबंगई ! जल्दी इलाज की बात पर कैसे परिजन को पीटकर खदेड़ा

70 दिनों बाद भी नहीं हुआ 1505 रुपये रिफंड

इस दौरान रवि प्रकाश को होटल की ओर से कोई फोन नहीं आया. फिर उन्‍होंने 30 मई को उन्हें मेल कर अपना पैसा वापस करने की मांग की. लेकिन, होटल से उस मेल का कोई जवाब नहीं आया और न किसी ने फ़ोन किया. कुछ दिन बाद उन्‍होंने अपने एक पत्रकार साथी को होटल जाकर बात करने को कहा. वे होटल गए तो वहां के GM ने सात दिनों का समय मांगा.

अब इसके 70 दिन हो गए और वहां रुके हुए तीन महीने से अधिक. उनका कोई जवाब नहीं आया. तब उन्‍होंने हाल में फिर से एक बार अपने साथी को होटल भेजकर पूछने को कहा तो GM ने कहा कि आपका पेमेंट नहीं मिला है. हमें माफ़ कीजिए क्योंकि हमलोगों ने समय पर सूचित नहीं किया. आप बैंक को मेल कीजिए, पैसा वापस मिल जाएगा. जब हमलोगों ने मेल का जवाब नहीं देने की बात की तो उनके पास कोई जवाब नहीं था. वे फिर सात दिन का समय चाह रहे थे लेकिन उन्‍होंने मना कर दिया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: