Fashion/Film/T.VLead NewsNational

देशद्रोह के मामले में बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत को बोम्बे हाईकोर्ट ने दी बड़ी राहत

समाज में नफरत फैलाने के लिए पुलिस ने कंगना के खिलाफ एफआईआर की थी दर्ज

Mumbai:  राजद्रोह मामले में थाने के चक्कर काट रही बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत और उनकी बहन रंगोली को बोम्बे हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है. हाईकोर्ट ने कंगना के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई और उनकी गिरफ्तारी पर 25 जनवरी तक रोक लगा दी है. अब मुंबई पुलिस 25 जनवरी तक कंगना को गिरफ्तार नहीं कर सकती है.

इससे पहले 8 जनवरी को कंगना रनौत और अपनी बहन रंगोली के साथ बांद्रा पुलिस स्टेशन में हाजिर हुई थी. इससे पहले, बांद्रा कोर्ट ने समाज में नफरत फैलाने के लिए पुलिस को कंगना के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया था. जिसके बाद कंगना ने एफआईआर को खारिज करने के लिए एक बोम्बे हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी. कोर्ट ने उसके बाद कंगना की गिरफ्तारी पर रोक लगाते हुए उन्हें 8 जनवरी को बांद्रा पुलिस के सामने हाजिर होने का आदेश दिया था.

इसे भी पढ़ें :सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को फटकारा, कहा, या तो आप इन कानूनों पर रोक लगाइए या फिर हम लगा देंगे

25 जनवरी तक गिरफ्तारी पर लगा दी रोक

पुलिस स्टेशन पहुंचने से पहले कंगना ने सोशल साइट ट्विटर पर अपना एक वीडियो भी शेयर किया था. जिसमें उन्होंने अपना गुस्सा जाहिर करते हुए मेंटली, इमोशनली और फ़िजिकली टॉर्चर करने का आरोप लगाया था और लोगों से मदद की गुहार लगायी थी. हालांकि, महाराष्ट्र सरकार ने कंगना की इस वीडियो पर आपत्ति जाहिर की थी.

इसे भी पढ़ें :जेबीवीएनएल ने नहीं किया बकाया भुगतान, सोमवार से 7 जिलों में 60 फीसदी बिजली कटौती करेगा डीवीसी

अब एक बार फिर हाई कोर्ट कंगना को राहत देते हुए 25 जनवरी तक उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है. हाईकोर्ट ने मुंबई पुलिस से ये भी कहा है कि इस तारीख तक कंगना को बुलाकर उनसे फिर से पूछताछ करने की जरुरत नहीं है.

क्या है पूरा मामला

मुम्बई में रहने वाले एक शख्स साहिल सय्यद ने एक याचिका दायर की थी, जिसके मुताबिक, कंगना रनौत की बहन रंगोली चंदेल ने एक खास समुदाय के खिलाफ ट्विटर पर आपत्तिजनक संदेश साझा किया था. जिसके बाद बांद्रा मैजिस्ट्रेट कोर्ट के आदेश पर बांद्रा पुलिस स्टेशन में कंगना और उनकी बहन रंगोली के खिलाफ राजद्रोह, धार्मिक भावना भड़काने समेत समाज मे द्वेष और विवाद बढ़ने का मामला दर्ज किया था. हालांकि, इन आरोपों को लेकर बोम्बे हाईकोर्ट ने प्रशासन को खूब फटकार भी लगाई थी.

इसे भी पढ़ें :बर्थडे स्पेशल :  टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा गेंदों का सामना करनेवाले “ द ग्रेट वॉल “ को सलाम

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: