न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बोकारो : हसन बोलो, हुसैन बोलो… नारों के साथ मना मुहर्रम

210

Bokaro : बोकारो जिले के शहरी से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में हसन बोलो, हुसैन बोलो… आदि नारों के साथ मुहर्रम अकीदत के साथ मनाया गया. जगह-जगह ताजिया के साथ जुलूस भी निकला. जिले का सबसे बड़ा जुलूस बोकारो शहर के सिवनडीह से उकरीद के बीच एनएच-23 पर निकला. वहीं, दोनों स्थानों के जुलूस का मिलन रितुडीह में दुर्गा मंदिर के पास हुआ. सिवनडीह मोड़ पर डुमरो, आजाद नगर, हैसाबातू, मखदुमपुर आदि इलाकों का जुलूस ताजिया के साथ पहुंचा, जिसके बाद लोग रितुडीह में उकरीद के ताजिया के साथ मिलन के लिए निकल पड़े. इसमें करीब एक दर्जन से अधिक छोटे-बड़े ताजिया शामिल थे, जबकि रितुडीह में उकरीद गांव के लोग भी जुलूस लेकर पहुंचे. मिलन के दौरान दोनों ओर से खिलाड़ियों ने पारंपरिक खेलों का प्रदर्शन भी किया. बालीडीह में भी जुलूस स्कूल बालीडीह में रहनेवाले लोगों ने निकला. ताजिया के साथ बालीडीह मोड़ तक जुलूस निकला, जो पुनः गांव में जाकर समाप्त हो गया. चास नगर निगम क्षेत्र के भर्रा, अंसारी मुहल्ला, गौस नगर इलाकों में भी जुलूस निकाला गया, जिसमें शामिल युवकों ने शस्त्रों के खेलों का प्रदर्शन किया. जुलूस में काफी संख्या में सामाजिक, राजनीतिक कार्यकर्ता शामिल हुए.

बोकारो : हसन बोलो, हुसैन बोलो... नारों के साथ मना मुहर्रम

इसे भी पढ़ें- मुहर्रम का जुलूस निकाला गया, शस्त्र चालन का हुआ प्रदर्शन 

बांसगोड़ा में बना था कंट्रोल रूम

एनएच-23 पर माराफारी थाना क्षेत्र के बांसगोड़ा-डुमरो के बीच कंट्रोल रूम बनाया गया था, जहां चास एसडीओ, सिटी डीएसपी के अलावा कई पदाधिकारी मौजूद थे. ये सभी जुलूस पर नजर रखे हुए थे. इसके अलावा काफी संख्या में पुलिस जवान सड़क पर जगह-जगह तैनात किये गये थे. साथ ही पुलिस अधिकारी जुलूस में शामिल होकर हर लोगों पर नजर रखे हुए थे. विधि-व्यवस्था को लेकर इस बार फोर लेन की एक सड़क पर छोटे वाहनों को चलने की अनुमति प्रशासन की ओर से दी गयी थी, जबकि भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक उकरीद गांव के पास ही लगा दी गयी थी, जिससे आम लोगों को काफी सहूलियत हुई.

बोकारो : हसन बोलो, हुसैन बोलो... नारों के साथ मना मुहर्रम

silk_park

इसे भी पढ़ें- पलामू की एकता देश के लिए मिसालः अग्रहरि

बेरमो के शहरी से लेकर ग्रामीण इलाकों में मना मुहर्रम

बेरमो अनुमंडल के बेरमो, फुसरो, चंद्रपुरा, बोकारो थर्मल, गोमिया, जैनामोड़, कसमार और पेटरवार में भी मुहर्रम अकीदत के साथ मनाया गया. कसमार के ब्लॉक मैदान में गर्री, मंजूरा, वनकनारी और मोचरो के और सुरजूडीह खुशहाल बाग मैदान में सुरजूडीह और हंसलता गांव के जुलूस का मिलन हुआ. यहां पर पारंपरिक तरीके से मुहर्रम मनाया गया. जबकि, गोमिया के साड़म संतोषी मंदिर के पास कई मुहल्लों के जुलूस का मिलन हुआ, जहां पर खिलाड़ियों ने कई खेलों का प्रदर्शन किया.

बोकारो : हसन बोलो, हुसैन बोलो... नारों के साथ मना मुहर्रम

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: