BokaroJharkhand

बोकारो : एटीएम का डाटा चुराकर पैसा निकालनेवाले गिरोह का भंडाफोड़, एक गिरफ्तार

Bokaro : साइबर अपराध के सिलसिले में बोकारो में एक और नया मामला सामने आया है. एटीएम कार्ड रीडर मशीन के जरिए लोगों के एटीएम का डाटा चुराकर उनके खाते से राशि चुराने वाले गिरोह का भंडाफोड़ पुलिस ने किया है. यह कामयाबी पुलिस को लोगों की मदद से मिल सकी है. एसपी ने कहा कि जिन लोगों को एटीएम से पैसे निकालने में दिक्कत होती है, उनकी मदद करने के बहाने इस गिरोह के लोग उनका एटीएम किस तरह अपने हाथ में लेकर पलक झपकते ही अपने एटीएम कार्ड रीडर मशीन में स्वाइप कर उसकी क्लोनिंग के लिए डाटा चुरा लेता है.

इसके बाद किसी तरह झांककर उसका पिन नंबर भी देख लेता है और हाथ की सफाई से उसका एटीएम कार्ड अपने मशीन में स्वाइप कर वापस कर देता है. इस मशीन को उसके गिरोह के अन्य सदस्यों द्वारा कंप्यूटर में जोड़कर इसके जरिये एटीएम की क्लोनिंग कर दूसरे एटीएम बना लिया जाता है. यह काम वैसी जगह किया जाता है जहां एटीएम सेंटर में सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे होते हैं या सिक्योरिटी गार्ड नहीं होते और वहीं से खाताधारक का पैसा निकाल लिया जाता है.

इसे भी पढ़ें- धनबादः टेलीस्कोपिक राइफल से दागी गोली, कमर में खोंसे है…

Catalyst IAS
ram janam hospital

एटीएम क्लोनिंग का पहला मामला

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

उन्होंने बताया कि बोकारो के साइबर थाने में एटीएम क्लोनिंग का इस तरह का पहला मामला सामने आया है. पुलिस इस गिरोह में संलिप्त अन्य सभी अपराधियों की गिरफ्तारी का प्रयास कर रही है. जल्द ही पूरे गैंग का भंडाफोड़ कर लिया जाएगा. गिरफ्तार किए गए नवादा जिला अंतर्गत कौवाकोल थाना स्थित गोला बड़राजी निवासी चंदन कुमार के पास से एटीएम कार्ड रीडर मशीन (मिनी डीएक्स), एक मोबाइल और एक एटीएम कार्ड बरामद किया गया है. गिरफ्तार किया गया चंदन बलियापुर धनबाद आइटीआइ का छात्र है.

इसे भी पढ़ें- पांचवीं अनुसूची पर सुलगते सवालों का जवाब नहीं सूझा एक्सपर्ट सुभाष…

बोकारो में एटीएम क्लोनिंग का धंधा

जिले के चंदनकियारी में इलेक्ट्रोस्टीलकर्मी प्रकाश कुमार गोप का एटीएम कार्ड जबरन छीनकर एक दूसरी एटीएम कार्ड मशीन में जबरन स्वाइप करने की कोशिश करने वाले चंदन कुमार नामक एक युवक की गिरफ्तारी के बाद इस गोरखधंधे का खुलासा हो सका है. शनिवार शाम पत्रकारों से एक बातचीत के दौरान पुलिस अधीक्षक कार्तिक एस. ने बताया कि नवादा का गिरोह बोकारो में एटीएम क्लोनिंग का यह धंधा चलाता है और चंदन कुमार नवादा जिले का रहने वाला है. उसका एक अन्य साथी भी नवादा का ही रहने वाला है.

 

एटीएम से डाटा चोरी करने पर मिलता था दस हजार रुपए

एसपी ने चंदन कुमार की स्वीकारोक्ति के आधार पर बताया कि उसे एटीएम से डाटा चोरी कर लाने के एवज में 10 हजार रुपये प्रतिमाह की तनख्वाह मिला करती थी. वह खासतौर से वैसे लोगों को अपना शिकार बनाता था, जिन्हें एटीएम से पैसे निकालने में दिक्कत होती है. इसी क्रम में बीते 9 नवंबर को चंदनकियारी में इंडिया एटीएम नामक एक प्राइवेट एटीएम सेंटर में उसने प्रकाश को अपना शिकार बनाने की कोशिश की थी. उसने प्रकाश का एटीएम कार्ड जबरन छीनकर अपने कार्ड रीडर में स्वाइप करने की कोशिश की थी, परंतु प्रकाश ने सूझ-बूझ का परिचय देते हुए हो-हल्ला किया. स्थानीय लोगों ने उसे पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया.

Related Articles

Back to top button