न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बोकारो : श्यामपुर में विकास की बाट जोह रहे वोटर्स ने किया वोट बहिष्कार

पंचायत में शामिल नहीं किये जाने का ग्रामीणों ने किया है विरोध

691

Prakash Mishra

Bokaro :  धनबाद लोकसभा क्षेत्र के बोकारो विधानसभा स्थित मतदान केंद्र संख्या-135 प्राथमिक विद्यालय श्यामपुर में ग्रामीणों ने वोट का बहिष्कार कर दिया है. गांव में 407 वोटर हैं. सुबह सात बजे से दोपहर 11 बजे तक चार घंटे में एक भी वोटर ने अपने मताधिकार का प्रयोग नहीं किया. यह गांव चास ब्लॉक के बालीडीह थाना इलाके में एनएच 23 के किनारे बसा हुआ है.

यहां के वोटरों को समझाने के लिए चास प्रखंड के बीडीओ के अलावा एफएसटी के पदाधिकारी भी पहुंचे, लेकिन ग्रामीणों ने उनकी बातों को नहीं सुना. साथ ही ग्रामीणों कहा कि वर्षो से गांव के लोग श्यामपुर को पंचायत में शामिल करने की मांग कर रहे हैं.

बोकारो : श्यामपुर गांव के लोगों ने किया वोट बहिष्कार, कहा – वर्षों से किसी ने नहीं किया विकास
वोटर्स को समझाते अधिकारी

लेकिन किसी भी नेता या पदाधिकारी की ओर से कोई पहल नहीं किया गया. इसी से परेशान होकर इस बार ग्रामीणों ने वोट नहीं डालने का मन बनाया है. वहीं किसी भी वोटर के मतदान केंद्र पर नहीं पहुंचने की वजह से पूरी तरह से सन्नाटा पसरा हुआ है.

इसे भी पढ़ें – महिला बाल विकास विभाग : OSD ने एक्सटेंशन खत्म होने से पहले कराया सेवा विस्तार

SMILE

बोकारो स्टील ने डैम के लिए श्यामपूर को किया था विस्थापित

बोकारो स्टील प्लांट की ओर से गरगा डैम निर्माण के लिए श्यामपुर गांव की जमीन का अधिग्रहण किया गया था.  उसके बाद से गांव पंचायत की सूचि सेहट गया और डैम के किनारे बस गया. गांव बसने के बाद किसी भी तरह की नागरिक सुविधा न तो बोकारो स्टील प्लांट की ओर से इन्हें मिलती है और न ही झारखंड सरकार की ओर से गांव में सड़क आदि का निर्माण करता है.

इसके साथ ही यहां पर रहने वाले करीब चार सौ अदिवासी परिवारों को जाति, आय या आवासीय प्रमाण पत्र बनाने में पंचायत के मुखिया के हस्ताक्षर की मांग की जाती है, जो गांव वाले नहीं दे पाते हैं. जिससे किसी भी तरह के जरूरी कागजात यहां के लोग नहीं बनवा पाते हैं.

गांव के रहने वाले महावीर मांझी, राजेश सोरेन, परमेश्वर मांझी, हराधन सोरेन, विनोद सोरेन, मुन्ना मांझी, विजय किस्कु, शेखर हेम्ब्रम, कमलेश सोरेन आदि ने कहा कि जब तक अधिकारियों की ओर से स्पष्ट लिखित नहीं दिया जायेगा. तब तक  गांव के कोई भी लोग वोट नहीं डालेंगे.

इसे भी पढ़ें – 37 डिग्री सेल्सियस की तपिश झेल रहे लोगों को बिजली, पानी से होना पड़ रहा महरूम

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: