JharkhandRanchi

बोकारो विधायक बिरंची नारायण ने पूछा- जिलों में न एक्टिव टीम है न गोताखोर, आपदा से कैसे निबटेंगे

विभाग ने कहा- केंद्रीय गाइडलाइन के तहत राज्य फंड से गोताखोरों पर खर्च नहीं

  • एसडीआरएफ के गठन की प्रक्रिया जारी

Ranchi : राज्य में आपदा प्रबंधन विभाग के पास संसाधनों की कमी है. राज्य के सभी जिलों में न ही आपदा प्रबंधन के लिए एक्टिव टीम का गठन किया गया है और न विभाग के पास अपने गोताखोर हैं. इससे संबंधित प्रश्न बोकारो विधायक बिरंची नारायण ने विधानसभा में पूछा. आपदा प्रबंधन विभाग ने विधायक को लिखित जवाब उपलब्ध कराया.

विधायक की ओर से प्रश्न किया गया था कि विभाग की ओर से एक्टिव जिलावार टीम का गठन नहीं हुआ है. जिससे आपदा की स्थिति में तत्काल प्रबंधन और राहत संभव नहीं है. विभाग की ओर से इस पर सहमति जतायी गयी. साथ ही जानकारी दी गयी कि जिला स्तर से मिली सूचना के आधार पर टीम बनायी जाती है. जो राज्य आपदा मोचन बल एसडीआरएफ कहलाती है. राज्य में इसकी प्रक्रिया जारी है.

राज्य मद से गोताखोरों पर खर्च का प्रावधान नहीं

Sanjeevani

वहीं आपदा प्रबंधन विभाग से गोताखोरों की भी जानकारी मांगी गयी. जिसमें पूछा गया कि गोताखोरों की नियुक्ति नहीं हुई है. विभाग ने बताया कि गृह मंत्रालय की गाइडलाइन और नॉर्मस के अनुसार एसडीआरएफ के लिए उपलब्ध मद से गोताखोरों की नियुक्त करने का प्रावधान नहीं है. जिस कारण राज्य में विभाग के अंतर्गत अपने गोताखोर नहीं हैं. जबकि लोगों के डूबने पर एनडीआरएफ की टीम से काम लिया जाता है.

टीम के लिए नयी गाइडलाइन का इंतजार

इस दौरान स्थानीय लोगों को जिला आपदा प्रबंधन टीम में शामिल करने की मांग की गयी. साथ ही उन्हें ट्रेनिंग, आधारभूत संरचना और अत्याधुनिक सुविधा उपलब्ध कराने की जानकारी मांगी गयी. विभाग की मानें तो राज्य में भारत सरकार के आपदा प्रबंधन गाइडलाइन के तहत नयी गाइडलाइन जारी होनेवाली है. इसमें मद और नॉर्मस में परिवर्तन का इंतजार है. ऐसे में पूर्व से प्रभावी गाइडलाइन में स्थानीय लोगों की नियुक्ति और प्रशिक्षण का प्रावधान नहीं है.

Related Articles

Back to top button