न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बोकारो: झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरेन के छोटे भाई लालू सोरेन का निधन

अंतिम संस्कार पैतृक गांव नेमरा में होगा, बीजीएच में चल रहा था इलाज

409

Bokaro :  झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरेन के छोटे भाई लालू सोरेन का बोकारो जेनरल अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया. उन्हें हार्ट में परेशानी के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उनका इलाज बोकारो के बीजीएच के सीसीयू में चल रहा था. जहां उन्होंने अंतिम सांस ली. उनके निधन की खबर आते ही  अस्पताल में पार्टी कार्यकर्ताओं एवं समर्थकों की भीड़ जमा हो गई. लालू सोरेन का अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव गोला प्रखंड के नेमरा गांव में किया जायेगा.

झारखंड आंदोलन में रहे थे सक्रिय

अलग झारखंड राज्य गठन को लेकर चले लंबे संघर्ष में लालू सोरेन की काफी अहम भूमिका रही थी. उनके नेतृत्व में बोकारो जिला में पार्टी का संगठन भी काफी मजबूत हुआ था. वे लंबे समय तक पार्टी के बोकारो जिलाध्यक्ष भी रहे थे. इस बीच उन्होंने गोमिया और बेरमो से विधानसभा का चुनाव भी लड़ा था, लेकिन उनकी जीत नहीं हो सकी थी. झारखंड अलग होने के बाद भी पार्टी में काफी सक्रिय होकर काम करते रहे, लेकिन हाल के कुछ वर्षो से उनकी दूरी झामुमो से हो चुकी थी.

कई लोगों ने जताया शोक

silk_park

झामुमो के डुमरी विधायक जगरनाथ महतो ने कहा कि झारखंड राज्य को लेकर जो भी आंदोलन हुए, उसमें स्व. सोरेन की काफी अहम भूमिका रही थी. उन्होंने कोयलांचल में  आंदोलन को गति दी थी. झामुमो जिलाध्यक्ष हीरालाल मांझी ने कहा कि पार्टी को मजबूत बनाते हुए राज्य अलग के लंबी लड़ाई में स्व. सोरेन का काफी योगदान रहा था. जो कभी भुलाया नहीं जा सकेगा. चास प्रखंड अध्यक्ष मुक्तेश्वर सोरेन, झामुमो बुद्धिजीवी मोर्चा के केंद्रीय सचिव दिनेश बेसरा, झामुमो महानगर अध्यक्ष मंटु यादव, केंद्रीय महासचिव संतोष रजवार, मनोज हेम्ब्रम आदि ने भी स्व. सोरेन के निधन को अपूरणीय क्षति बतायी है.

इसे भी पढ़ें – बोले जयराम रमेश, तानाशाही का नया नाम अमित शाह, सांप्रदायिक ध्रुवीकरण में माहिर है भाजपा

इसे भी पढ़ें –  “तीसरी सरकार को सशक्त किये बगैर गांव गणराज्य की स्थापना नहीं की जा सकती”

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: