न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बोकारो : चार साइबर अपराधी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

अपराधियों के पास से भरी मात्रा में मोबाईल, सिमकार्ड, लैपटॉप, एटीएम कार्ड समेत कागजातों को जब्त किया गया है.

139

Bokaro : जिला पुलिस ने सेक्टर 9 थाना क्षेत्र के एक आवास से चार साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार अपराधी ऑनलाइन खरीददारी करने वालों का डाटा इकठ्ठा कर उनसे उपहार निकलने के नाम पर ठगी को अंजाम दिया करते थे. इन अपराधियों को पास से भरी मात्रा में मोबाईल, सिमकार्ड, लैपटॉप, एटीएम कार्ड समेत कागजातों को जब्त किया गया है.

इसे भी पढ़ें : सस्पेंड किये गये दहेज उत्पीड़न के आरोपी प्रोफेसर जेबी पांडेय

बिहार का है मास्टर माइंड

hosp3

गिरफ्तारी की जानकारी देते हुए एसपी कार्तिक एस ने बताया कि बोकारो साइबर सेल को जानकारी मिली कि सेक्टर 9 के एक आवास में कुछ युवक हमेशा मोबाईल पर किसी से बात करते रहने की आवाज सुनाई देती रहती है. इस सूचना की जब तफ्तीश करने मौके पर टीम पहुँची तो मौके से चार लोगों को गिरफ्तार किया गया. पूछताछ के क्रम में गिरफ्तार अपराधियों ने बताया कि इस अपराध का मास्टर माइंड बिहार के नालंदा जिला के कतरीसराय का रहने वाला दीपू साव है, जो बोकारो समेत राज्य के अन्य जिलों में अपना साम्राज्य चला रहा है. पुलिस ने सख्ती होकर पूछताछ किया तो बोकारो के सुनील सिन्हा, विष्णु कुमार, राकेश कुमार और सतोष महतो अपना नाम बताया. गिरफ्तार दो अपराधी बिहार और दो बोकारो के ही रहने वाले है.

इसे भी पढ़ें : बेबस और लाचार डीवीसी प्रबंधन : तीन वर्ष बाद भी प्रबंधन के आदेश का नहीं हुआ अनुपालन

ऑनलाइन शॉपिंग कंपनियों का डाटा

गिरफ्तार चारों के पास से 23 मोबाइल सेट, 17 सिम कार्ड, लैपटॉप, 10 बैंक खाता,10 पीस एटीएम कार्ड, पैन कार्ड 2 व आधार कार्ड 2 बरामद तीन बाइक बरामद किया गया. एसपी ने बताया कि यह गिरोह ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी पेटीएम, फ्लिप्कार्ट, शॉपपकलुएस, क्लब फेक्ट्री, लिमा रोड, वोनिक्स, टीवी 18 होमशॉप से खरीददारी का डाटा पंद्रह रुपये प्रति खरीददार उप्लब्ध कर उनसे उपहार निकलने का झांसा देकर उनसे राशि की ठगी कर लेते थे. एसपी ने बताया कि यह बोकारो जिला पुलिस ने साईबर अपराध के मामले में एक बड़ी उपलब्धि हासिल किया है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: