BokaroCrime NewsJharkhand

बोकारो: मारपीट मामले में एफआइआर दर्ज, मुख्य आरोपी पुलिस की पकड़ से बाहर

Ranchi: बोकारो थर्मल थाना में पीड़ित परिवार द्वारा एफआइआर दर्ज कराने के बावजूद बोकारो पुलिस मुख्य आरोपी को अब तक गिरफ्तार नहीं कर सकी है. पप्पू पासवान ने 14 जून को बोकारो थर्मल थाना में एफआइआर दर्ज कराई थी. पप्पू पासवान ने एफआइआर में बताया कि मेरे पड़ोसी के द्वारा हमारे परिवार से मारपीट की जाती है.

पप्पू पासवान और पवन कुमार साव के परिवार में अक्सर मारपीट की घटना होती थी. पप्पू पासवान ने पवन कुमार समेत उनके परिवार पर एफआइआर दर्ज करायी थी. आरोपियों ने पप्पू पासवान के परिवार पर जानलेवा हमला कर दिया और कई लोगों को गंभीर रूप से घायल कर दिया था.

इसे भी पढ़ें :जानिये मंत्रिमंडल में 12वें मंत्री पर क्या बोले कांग्रेस अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव

इस घटना में रंजीत पासवान और सुजीत पासवान बुरी तरह से जख्मी हो गए थे. इस घटना में उनका सिर फट गया था. झगड़े में बीच-बचाव करने आई मां तेतरी देवी को आरोपियों ने रॉड से सर फोड़ दिया था.

advt

इस घटना में पप्पू पासवान के दोनों भाई गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे जिन्हें बेहतर इलाज के लिए रांची के रिम्स हॉस्पिटल रेफर कर दिया गया था.

इस घटना का जिक्र करते हुए पप्पू पासवान ने थाना प्रभारी पर आरोप लगाया कि कार्रवाई करने के बजाय हमारे परिवार को ही गिरफ्तार करने की धमकी देते हैं. हालांकि थाना प्रभारी ने दो आरोपियों से पूछताछ कर छोड़ दिया है.

इसे भी पढ़ें :शुरू हुआ वीकेंड लॉकडाउन, खुली रहेंगी दूध व दवा की दुकानें

पीड़ित परिवार ने बताया कि कोयला चोरी करने के आरोप में मेरे भाई को जीआरपी ने उठा लिया था लेकिन हकीकत में कोयला चोरी करने वाले दूसरे पक्ष के लोग थे. मेरे पड़ोसी ने कोयला चोरी कर हमारे दरवाजे पर रख दिया करते था. इसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था.

बोकारो थर्मल थाना प्रभारी रविंद्र ने बताया कि हम लोग इस घटना की जांच कर रहे हैं जिसमें एक की गिरफ्तारी हुई है. उन्होंने कहा कि इस घटना में दोनों परिवार बुरी तरह से जख्मी हुए हैं.

इसे भी पढ़ें : नियुक्ति वर्ष का हाल (2) : पेच सरकार का, दांव पर युवाओं का भविष्य

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: