Crime NewsJamtaraJharkhand

अपहृत बच्चे का शव उसके रिश्तेदार के घर से बरामद, तीन गिरफ्तार

विज्ञापन

Jamtara: जिले के सदर थाना क्षेत्र के नामुपाड़ा मोहल्ला से अपहृत 5 वर्षीय बच्चे का शव उसके रिश्तेदार के घर से ही बरामद हुआ. घर के आंगन से बच्चे का शव बरामद किया गया है. वहीं इस मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है.

गिरफ्तार आरोपियों में बच्चे का फूफा इब्राहिम, उसका दोस्त सुभान शेख और इब्राहिम की मां जहीना बीबी शामिल हैं. तीनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. गौरतलब है कि 6 अगस्त को बच्चे का अपहरण हुआ था.

इसे भी पढ़ें- स्वैच्छिक प्लाज्मा डोनेशन के लिए नहीं मिले डोनर, अब डोनेशन के लिए 2500 रुपये तक देगा रिम्स

advt

क्या है मामला

आरोपी इब्राहिम शेख ने एंथोनी शेख की बहन से प्रेम विवाह किया था. कुछ दिन पहले इब्राहिम शेख ने अपनी पत्नी की पिटाई की थी. इसके बाद एंथोनी को जब इसकी सूचना मिली तो उसने इब्राहिम को काफी डांट फटकार लगाई थी. इसके बाद पंचायत कर दोनों के बीच सुलह समझौता किया गया और इब्राहिम की पत्नी को मायके भेज दिया गया. इसी दौरान इब्राहिम ने एंथोनी को सबक सिखाने की बात कही थी.

मुंह और गला दबाकर की गयी बच्चे की हत्या

इब्राहिम ने अपने दोस्त सुभान शेख के साथ मिलकर 6 अगस्त को एंथोनी शेख के 5 साल के बच्चे को उसके घर से उठा लिया था. इसके बाद मुंह और गला दबाकर बच्चे की हत्या कर दी. बच्चे के शव को इब्राहिम ने अपने ही घर में दफन कर दिया. इब्राहिम की मां जहीना बीबी ने भी इस घटना में उसका साथ दिया था.

इसे भी पढ़ें- दुल्हन को देख हैरान हो गया पति, बोला मैं तुम्हारी जमानत करवा लूंगा, तभी तीन लोगों ने कहा- ये मेरी पत्नी है

थाने में दर्ज कराया गया था अपहरण का केस

आरोपियों के द्वारा 6 अगस्त को बच्चे का अपहरण कर लिया गया था. इसके बाद बच्चे के पिता एंथोनी शेख ने अपने बच्चे के अपहरण का मामला जामताड़ा थाना में दर्ज कराया था. अपहरण का आरोप बच्चे के फूफा इब्राहिम पर लगाया गया था.

adv

पुलिस ने उसे हिरासत में लिया और पूछताछ शुरू की तो इब्राहिम ने अपना जुर्म कबूल कर लिया. साथ ही उसने साथ देने वालों के बारे में भी जानकारी दी. जिसके बाद इब्राहिम के दोस्त और उसकी मां को भी गिरफ्तार किया गया. आरोपियों की निशानदेही पर ही इब्राहिम के घर के आंगन में दफन बच्चे का शव बरामद किया गया.

इसे भी पढ़ें- सच्चा-झूठा, कच्चा-पक्का हिंदू कुछ नहीं होता, फर्क है सिर्फ “दिखावा करना या ना करना”

advt
Advertisement

7 Comments

  1. You could certainly see your expertise in the work you write. The arena hopes for more passionate writers like you who aren’t afraid to mention how they believe. At all times follow your heart. “In America, through pressure of conformity, there is freedom of choice, but nothing to choose from.” by Peter Ustinov.

  2. I’m not that much of a internet reader to be honest but your sites really nice, keep it up!I’ll go ahead and bookmark your site to come back later.Cheers

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button