Crime NewsJharkhandRanchi

पैसे के लेनदेन में हुए विवाद में बॉबी की हत्या की गयी, आरोपी  गिरफ्तार

Ranchi : नामकुम थाना क्षेत्र के गुरुटोली से रविवार की सुबह बिष्णु श्रीवास्तव उर्फ बॉबी का शव पुलिस ने बरामद किया. बॉबी की मां ने पुलिस को बताया कि बॉबी को अनूप नामक युवक लेकर गया था. पुलिस ने अनूप को कल हिरासत में लेकर पूछताछ की. अनूप ने स्वीकार किया कि पैसे की लेनदेन में उसने गोली मारकर बॉबी की हत्या शनिवार रात कर दी थी.

इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार तक लिया. पुलिस ने जानकारी दी कि शनिवार रात 9 बजे अनूप कुमार कश्यप और रणजीत लाल ने बॉबी को घर से बुलाया और बाइक से गुरुटोली की सुनसान जगह पर ले गये.वहां पर अनूप ने बॉबी से पैसों की मांग की.

बॉबी ने एक महीने में पैसे देने की बात कही, लेकिन अनूप पैसा लेने पर अड़ा रहा. इसी बीच तू तू मैं मैं शुरू हो गयी.इसके बाद अनूप ने पिस्टल निकाली और बॉबी को सीने में गोली मार दी. इसके बाद अनूप और रणजीत बॉबी को घसीट कर नाले में फेंक दिया. इस मामले में रंजीत नाम का आरोपी फरार है , जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस प्रयासरत है.

advt

इसे भी पढ़ें – NEWS WING STING: 70-80 हजार रुपया दो, समाज कल्याण विभाग में #JOB लो

शराब के बकाया के पैसे को लेकर हुए विवाद में बुजुर्ग दंपती की हत्या

अनगड़ा थाना क्षेत्र के राहे प्रखंड स्थित सत्ताकी गांव में 5 सितंबर की रात एक बुजुर्ग दंपती प्रहलाद महतो और उसकी पत्नी घसनी देवी की गला रेतकर हत्या करने के मामले में रांची पुलिस ने खुलासा किया है. वरीय पुलिस अधीक्षक अनीश गुप्ता के निर्देश पर मामले का उद्भेदन के लिए एक टीम का गठन किया गया था.मामले की जांच के क्रम में सत्ताकी गांव के रहने वाले अजय स्वासी सीजर से पुलिस ने पूछताछ की तो उसने पुलिस को बताया कि 5 सितंबर की रात शराब के बकाया पैसे को लेकर हुए विवाद के चलते उसने कुल्हाड़ी से बुजुर्ग दंपती की हत्या कर दी थी.

घर का दरवाजा बाहर से बंद कर फरार हुआ था आरोपी

बुजुर्ग दंपती की हत्या की सूचना 7 सितंबर की सुबह ग्रामीणों ने पुलिस को दी थी. ग्रामीणों ने बताया कि दंपती का बेटा दो दिनों से उनसे संपर्क करने की कोशिश कर रहा था. इसी दौरान दंपती की स्कूटी गांव के बाहर मिली. इसके बाद गांववाले दंपती के घर पहुंचे तो घर के दरवाजे पर ताला बंद मिला.इसके बाद खिड़की से अंदर झांककर देखा तो दोनों की लाश फर्श पर पड़ी हुई थी.

इसे भी पढ़ें – हजारीबाग : धान की लहलहाती फसल नष्ट कर रही त्रिवेणी सैनिक कंपनी, प्रशासन नहीं सुन रहा किसानों की पीड़ा

adv
advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button