NEWSWING
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट : मोदी 2029 तक भारत के प्रधानमंत्री बने रह सकते हैं  

ब्लूमबर्ग ने अपनी एक रिपोर्ट में विश्व के 16 देशों के नेताओं के राजनीतिक करियर की उम्र के बारे में भविष्यवाणी की है

290
mbbs_add

 NewDelhi : ब्लूमबर्ग ने अपनी एक रिपोर्ट में विश्व के 16 देशों के नेताओं के राजनीतिक करियर की उम्र के बारे में भविष्यवाणी की है. रिपोर्ट में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, चीन ने राष्ट्रपति शी चिनफिंग, उत्तर कोरिया के किम जोंग-उन, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, सऊदी अरब के मोहम्मद बिन सलमान, अमेरकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप को शामिल किया गया हैं. रिपोर्ट के अनुसार भारत के प्रधानमंत्री मोदी 2019 ही नहीं बल्कि 2024 का भी चुनाव जीत सकते हैं और वह 2029 तक भारत के पीएम बने रह सकते हैं.  देश में आम चुनाव में लगभग 10 महीने का समय बचा हुआ है, ऐसे में ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के  अनुसार 2019 के लोकसभा चुनावों में नरेंद्र मोदी साफ तौर पर जीतते हुए दिख रहे हैं.

रिपोर्ट ने 67 साल के मोदी को अब तक का सबसे लोकप्रिय भारतीय नेता बताया है.  रिपोर्ट के अनुसार विपक्षी कांग्रेस पार्टी में करिश्माई नेता की कमी भी पीएम मोदी की जीत का कारण है. रिपोर्ट कहती है कि भले ही  भाजपा सरकार की नीतियां अर्थव्यवस्था के लिए नुकसानदेह हो, लेकिन आम जनता के बीच इन नीतियों को लेकर सकारात्मक रुख है.  सिंगापुर की कंसल्टेंसी कंपनी क्रोल की मैनेजिंग डायरेक्टर रेशमी खुराना के अनुसार 2019 के बाद मोदी का विजय रथ उनकी भारी लोकप्रियता की वजह से 2024 तक पहुंच सकता है.

इसे भी पढ़ें- मैं खड़ा भी हूं और चार साल जो काम किये हैं, उस पर अड़ा भी हूं: मोदी

 पुतिन एक बार फिर संविधान में बदलाव कर सकते हैं

रूस की बात करें, तो 18 साल से रूस की सत्ता पर काबिज राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन इसी साल दोबारा राष्ट्रपति चुने गये हैं. वह 2024 तक इस पद पर बने रहेंगे.  2024 के बाद संविधान के अनुसार  उन्हें चुनाव लड़ने की इजाजत नहीं होगी.  हालांकि, एक्सपर्ट्स को यह आशंका है कि सत्ता पर पकड़ रखने के लिए पुतिन एक बार फिर संविधान में बदलाव कर सकते हैं.  आर पॉलिटिक थिंक टैंक में पॉलिटिकल ऐनालिस्ट टैटियाना स्तानोवाया के अनुसार पुतिन चाहते हैं कि उनके पद से हटने के बाद भी उनका उत्तराधिकारी देश के बड़े फैसले उन्हीं से पूछ कर ले.

इसे भी पढ़ें-  सूखे की नहीं करें चिंता, फसल बीमा के प्रीमियम का भुगतान सरकार करेगी : रघुवर दास 

 शी चिनफिंग अगले 10 साल तक चीन के राष्ट्रपति बने रहेंगे

जहां तक चीन की बात है तो ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार चीन के राष्ट्रपति के कार्यकाल की सीमा हटा दी गयी  , जिसके बाद सबसे बड़ा सवाल है कि शी चिनफिंग कितने सालों तक इस पद पर रहेंगे? बता दें कि शी   2012 में चीन के राष्ट्रपति बने थे. चीन की  इकनॉमिस्ट इंटेलिजेंट यूनिट में रीजनल मैनेजर टॉम रैफर्टी मानते हैं कि शी ने चीन को लेकर अपनी लंबे समय तक चलने वाली योजनाओं से पर्दा उठा दिया है; वह अगले  10 साल तक तो चीन के राष्ट्रपति बने रहेंगे.

Hair_club

इसे भी पढ़ें- जस्टिस अनिरुद्ध बोस को झारखंड हाई कोर्ट का चीफ जस्टिस बनाने की सिफारिश  

किम जोंग-उन सत्ता पर कई दशकों तक बने रहेंगे

उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग-उन ने अपने पिता किम जोंग-इल की मौत के बाद  2011 में देश की कमान संभाली थी. विशेषज्ञों के अनुसार तख्तापलट, हत्या या अमेरिका के साथ युद्ध ही ऐसे कारण हो सकते हैं जो किम जोंग को उनके पद से हटा सकते हैं.   लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है तो किम जोंग संभवतः तब तक उत्तर कोरिया पर अगले कई दशकों तक अपना नियंत्रण रखेंगे, जैसे उनके पिता और दादा ने रखा था.  किम कि उम्र फिलहाल 35 साल से कम है. अगर वह स्वस्थ रहते हैं, तो अगले 40 से 50 साल सत्ता में बने रह सकते हैं.

 किंग सलमान 50 से ज्यादा साल तक सऊदी अरब के नेता बने रहेंगे

सऊदी अरब के किंग सलमान और उनके पिता ने मोहम्मद बिन सलमान को  2017 में ही अपना उत्तराधिकारी चुन लिया था. बता दें कि  32 साल के बिन सलमान ने किंग बनने से पहले ही बड़े फैसले लेने शुरू कर दिये हैं  वॉशिंगटन की जॉर्जटाउन यूनिवर्सिटी में मिडिल ईस्ट स्पेशलिस्ट पॉल सलिवन कहते हैं कि अगर वह स्वस्थ बने रहे तो वह 50 से ज्यादा साल तक देश के नेता रह सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंःफेक न्यूज पर लगाम लगाने की कोशिशः व्हाट्सऐप पर अब पांच बार ही फॉरवर्ड कर पायेंगे मैसेज

2024 का राष्ट्रपति चुनाव नहीं लड़ सकते ट्रंप

अमेरकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने 2017 में पद संभाला; ब्लूमबर्ग के अध्ययन के अनुसार 71 साल के ट्रंप को किसी भी अमेरिकी नेता की तुलना में सबसे कम स्वीकार्यता है.  वॉशिंगटन में अमेरिकन यूनिवर्सिटी में प्रफेसर जेनिफर लॉलेस के अनुसार बहुत से लोग कयास लगा रहे हैं कि ट्रंप अपना मौजूदा कार्यकाल भी पूरा नहीं कर पाएंगे.  हालांकि कुछ ऐसा होता नजर नहीं आ रहा.  अगर ट्रंप 2020 में दोबारा चुने जाते हैं तो भी संवैधानिक व्यवस्था के तहत वह 2024 का राष्ट्रपति चुनाव नहीं लड़ सकते.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

nilaai_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

bablu_singh

Comments are closed.