न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लालू प्रसाद का ब्लड शुगर लेवल नहीं हो रहा नियंत्रित, जारी है उतार-चढ़ाव

134

RANCHI : रिम्स में इलाजरत राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव का ब्लड शुगर नियंत्रित नहीं हो पा रहा है. कभी ज्यादा तो कभी कम हो जा रहा है. मंगलवार को लालू प्रसाद का बल्ड शुगर का लेवल कम होकर 131 पहुंच गया. जब से लालू रिम्स में भर्ती हुए हैं, उनका ब्लड शुगर घट-बढ़ रहा है. इसी वजह से उनके पांव का जख्म भी ठीक नहीं हो पा रहा है. चिकित्सकों ने लालू प्रसाद को खानपान में सुधार करने की सलाह दी है. चावल और आलू थोड़ी मात्रा में खाने को कहा है. उन्हें डायट चार्ट के अनुसार ही भोजन करने को कहा गया है. रिम्स की डायटीशियन मीनाक्षी कुमारी ने लालू प्रसाद के खाने-पीने की जांच की.

इसे भी पढ़ें- सांसद शिबू सोरेन और मंत्री लुईस मरांडी का है क्षेत्र, लेकिन श्रमदान कर सड़क बनाने को मजबूर ग्रामीण

डॉ. उमेश ने लालू को टहलने की दी सलाह

मंगलवार को लालू प्रसाद यादव का ब्लड शुगर का लेवल कम होकर 131 पहुंच गया, जिसके बाद लालू प्रसाद का इलाज कर रहे डॉ. उमेश प्रसाद ने उन्हें दिन में टहलने की सलाह दी. डॉ. उमेश ने कहा कि लालू किडनी के भी मरीज हैं, ऐसे में शुगर नियंत्रित नहीं किया गया, तो परेशानी बढ़ सकती है.

इसे भी पढ़ें- विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगे गये युवकों ने कांके थाना में दिया धरना

बाहर का खाना खाने से अनियंत्रित हुआ है लालू का ब्लड शुगर लेवल

चिकित्सकों ने बताया कि काफी मुश्किल से लालू प्रसाद का ब्लड शुगर हल्का नियंत्रित हो पाया था, लेकिन खान-पान में नियंत्रण नहीं रखने की वजह से उनका ब्लड शुगर कंट्रोल नहीं हो पा रहा है. लालू प्रसाद को दवा और इंसुलिन का डोज दिया जा रहा था, लेकिन बाहर का खाना खाने से उनके ब्लड शुगर में सुधार नहीं हो पा रहा है. दरअसल, पेइंग वार्ड में शिफ्ट होने के बाद मरीज को रिम्स का खाना नहीं मिलता है, जिस कारण उन्हें बाहर से खाना लाकर दिया जा रहा है. लालू प्रसाद के दो सेवादार उनके लिए भोजन तैयार करते हैं. भोजन में चावल का ज्यादा इस्तेमाल हो रहा है. सेवादार उन्हें मनपसंद भोजन बनाकर दे रहे हैं. डायट चार्ट को फॉलो नहीं किया जा रहा है. रोटी की जगह चावल खाने से ही शुगर अनियंत्रित हो गया है.

इसे भी पढ़ें- मनरेगा डीबीटी देने में झारखंड को पूरे देश में पहला स्थान

पेइंग वार्ड में मरीज खुद ही करते हैं खाने की व्यवस्था

पेइंग वार्ड में मरीज को अपने खाने की व्यवस्था स्वयं ही करनी होती है. मरीज के परिजन बाहर से खाना लाकर मरीज को दे सकते हैं, लेकिन इसमें रिम्स द्वारा दिये गये डायट चार्ट का ख्याल रखना होता है. चिकित्सक और डायटीशियन के मार्गदर्शन पर ही मरीज को खाना दिया जाता है, लेकिन डायट चार्ट को फॉलो नहीं करने के कारण लालू प्रसाद के साथ ऐसी स्थिति उत्पन्न हुई है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: