JharkhandRanchi

रांची नगर निगम के अक्षम ठेकेदारों को ब्लैक लिस्टेड करें अधिकारी : मेयर

  • निगम के विभिन्न शाखाओं की समीक्षा बैठक में मेयर ने दी कई अहम निर्देश

Ranchi  :  मेयर आशा लकड़ा ने रांची नगर निगम में काम कर रहे अक्षम ठेकेदारों को ब्लैक लिस्टेड करने का आदेश दिया है. मेयर ने वैसे ठेकेदारों की एक सूची बनाने का निर्देश भी इंजीनियरिंग शाखा के कार्यपालक और कनीय अभियंताओं को दिया है. ब्लैक लिस्टेड ठेकेदारों की सूची नहीं बनाने पर मेयर ने संबंधित अधिकारी पर कार्रवाई की बात भी की है.

Jharkhand Rai

मेयर मंगलवार को निगम की कई शाखाओं के कार्यों की समीक्षा कर रही थीं. इस  समीक्षा बैठक में अभियंत्रण शाखा,  स्वास्थ्य शाखा,  राजस्व शाखा और जल बोर्ड के कार्यो की समीक्षा की गयी. इस दौरान मेयर ने अभियंत्रण शाखा के कार्यों की विशेष तौर पर समीक्षा की.

उन्होंने मुख्य अभियंता से लेकर कनीय अभियंता को निर्देश दिया कि वे शहर में चल रहे विकास कार्यों का जायजा फील्ड विजिट करके लें. इस दौरान उन्होंने वित्तीय वर्ष 2016–17 और 2017–18 की सभी योजनाओं को इस साल के अंत तक पूरा कराने का आदेश दिया.

समीक्षा बैठक में उपमहापौर संजीव विजयवर्गीय, नगर आयुक्त मुकेश कुमार, उप नगर आयुक्त रजनीश कुमार सहित कई अभियंता उपस्थित थे.

Samford

इसे भी पढ़ें – गिरिडीह: निर्माणाधीन कॉलेज कैंपस में नक्सलियों का उत्पात, दो मशीनें फूंकी, कर्मचारी को पीटा

सेनिटाइजेशन के लिए हेल्पलाइन नंबर पर करें संपर्क

स्वास्थ्य शाखा के कार्यों की समीक्षा करते हुए मेयर ने कहा कि कोराना को देखते हुए राजधानी में लगातार सेनिटाइज करने व ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव करने की जरूरत है. उन्होंने राजधानीवासियों से अपील कर कहा कि वे निगम के हेल्पलाइन नंबर 9431104429 पर जानकारी दें. इसके बाद निगम ऐसे जगहों पर सेनिटाइज कराने का काम करेगा.

स्पैरो सॉफ्टेक को सेवा विस्तार की बात पर अधिकारियों ने विधि सम्मत कार्रवाई की कही बात

बैठक में स्पैरो सॉफ्टेक कंपनी को सेवा विस्तार दिये जाने का मुद्दा भी उठा. मेयर ने अधिकारियों से कहा कि पिछले 1 सप्ताह से निगम कर्मी टैक्स कलेक्शन का काम कर रहे हैं. इसमें प्रतिदिन 3 लाख के आसपास टैक्स जमा हो रहा है. यही हालत रही तो अपने कर्मचारियों को वेतन देने में भी निगम को परेशानी होगी. ऐसे में उन्होंने स्पैरो सॉफ्टटेक को सेवा विस्तार देने की बात भी नगर आयुक्त से कही. इस पर अधिकारियों ने कहा कि मामले पर वे विधि सम्मत कदम उठायेंगे.

इसे भी पढ़ें – रांची विवि: ऑफलाइन होगी यूजी 6 और पीजी 4 सेमेस्टर की परीक्षाएं, फार्म भरने की तारीखें भी घोषित

खराब चापाकल व कुआं को रेन वाटर हार्वेस्टिंग में विकसित करने का निर्देश

बैठक में मेयर ने जल बोर्ड के अभियंताओं को निर्देश दिया कि हर वार्ड के 5 खराब चापाकल व ऐसे कुएं जिसका उपयोग नहीं होता है, उसको रेन वाटर हार्वेस्टिंग के रूप में विकसित करने की पहल करें. इससे गर्मी के दिनों में राजधानीवासियों को पानी की किल्लत नहीं होगी.

इसे भी पढ़ें – 1993 से प्रमोशन की राह देख रहे हैं झारखंड हाइस्कूल के 8000 शिक्षक

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: