NEWS

खाक हो रहा काला सोना, BCCL बेपरवाह

Dhanbad : बीसीसीएल के राजापुर परियोजना में कार्यरत डेको आउटसोर्सिंग कंपनी द्वारा उत्पादित लाखों टन कोयला आग से जल रहा है.  प्रतिदिन हजारों टन कोयला जलने का अनुमान है. इससे बीसीसीएल सहित राष्ट्र को भी संपत्ति का नुकसान हो रहा है. इसे लेकर यूनियन नेता बीसीसीएल पर घोर लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं. वहीं बीसीसीएल प्रबंधक आग को जल्द बुझा लेने की बात कर रहा है.

इसे भी पढ़ेंःCorona Update: पूर्वी सिंहभूम ने बढ़ाई चिंता, 24 घंटे में 358 नये संक्रमित मिले, जानें-झारखंड की क्या है स्थिति

बीसीसीएल का राजापुर परियोजना अग्नि प्रभावित क्षेत्र है. यहां डेको आउटसोर्सिंग कंपनी के द्वारा ओबी उत्खनन और कोयला का प्रोडक्शन का कार्य किया जा रहा था. फिलहाल डेको कंपनी कोयले का उत्खनन कर रही है लेकिन कोयला का डिस्पैच नहीं होने से कोयला में आग लग गई और प्रतिदिन हजारों पर कोयला जलकर राख में तब्दील हो रही है. 2 लाख टन से भी अधिक कोयला डंप किया हुआ है. जिसमें आग धधक रही है.

 

advt

इसे लेकर जनता मजदूर संघ के यूनियन नेता बस्ताकोला शाखा अध्यक्ष रामकृष्ण पाठक का कहना है कि 1 मई से ही डेको का काम बंद है. कोयला का प्रोडक्शन कर लाखो टन कोयला अग्नि प्रभावित क्षेत्र में डंप किया हुआ है. कहा कि इसमें बीसीसीएल की घोर लापरवाही है. बीसीसीएल जब जानता है की अग्नि प्रभावित क्षेत्र है तो इतने दिनों से कोयला डंप कर रखना कहीं ना कहीं सवाल खड़ा करता है साथ ही आग बुझाने में तत्परता नहीं दिखाना यह भी एक बड़ा सवाल खड़ा करता है.

इसे भी पढ़ेंःउलगुलान! उलगुलान!! उलगुलान!!!

वहीं बीसीसीएल बस्ताकोला एरिया 09 के महाप्रबंधक सोमेन चटर्जी का कहना है कि डेको आउटसोर्सिंग कंपनी का ओबी उत्खनन बंद है जबकि प्रोडक्शन चालू है. कहा की नवंबर – दिसंबर में कोयले की उत्पादन हुआ लेकिन डिस्पैच नहीं हुआ. जिस कारण लगभग 2 लाख टन कोयला जमा हो गया और गर्म कोयला होने से कोयला में आग लग गई. कहा की आग पर काबू पाया जा रहा है पाइप के द्वारा कोयला में लगी आग को बुझाने का काम चल रहा है जल्द ही आग पर काबू पाया जाएगा और कोयला का डिस्पैच कर लिया जाएगा.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: