JharkhandMain SliderRanchi

BJP का इंटरनल सर्वे : 20 सीटिंग MLA का कट सकता है टिकट, 12 पर कांटे की टक्कर, 9 सुरक्षित

Pravin kumar

Ranchi : इसमें दो राय नहीं है कि आने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी जिस तरह से झारखंड में मेहनत कर रही है, वैसी मेहनत कोई दूसरी पार्टी करती नहीं दिख रही है. इसी क्रम में बीजेपी ने अपना इंटरनल सर्वे भी कराया है.

प्रदेश बीजेपी के पुख्ता सूत्रों ने बताया है कि यह सर्वे केंद्र की ओर से कराया गया है लेकिन इसकी रिपोर्ट देखने के लिए प्रदेश स्तर का कोई भी अधिकारी अधिकृत नहीं है.

advt

न्यूज विंग को सर्वे रिपोर्ट की कुछ खास बातें हाथ लगी हैं.

रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि 2019 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी के करीब 20 विधायकों को साइड किया जा सकता है. यानी पार्टी इन 20 सीटों पर मौजूदा विधायकों के बजाय दूसरे उम्मीदवार पर भरोसा जता सकती है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि राज्य भर में 12 ऐसी सीटें हैं जहां बीजेपी को कड़ी टक्कर मिल सकती है जबकि नौ सीटें पार्टी के लिए बिल्कुल सुरक्षित हैं.

पार्टी सूत्रों के अनुसार वह राज्य में हर हाल में सरकार बनाने का इरादा रख रही है. इसके लिए सीएम कैंडिडेट की चुनाव पूर्ण घोषणा न करने की रणनीति पर भी काम हो रहा है.

adv

इसे भी पढ़ें : धनबाद : ऑटो खरीदने के लिए पिता से मांगे पैसे, कुछ दिन रुकने को कहा तो लगा ली फांसी

बिखरा विपक्ष और सर्वे रिपोर्ट बने टिकट काटने के आधार

विधानसभा चुनाव को देखते हुए भाजपा भी हवा का रुख भांप रही है. विपक्षी पार्टियों में सेंधमारी की कवायद भी शुरू कर चुकी है. चुनावी तैयारी में सबसे आगे तो भाजपा है ही, बिखरे हुए विपक्ष और सर्वे रिपोर्ट को देखकर वह रिफ्रेशमेंट के मूड में है.

वर्तमान विधायकों के परफॉर्मेंस को लेकर पार्टी ने डेटा बेस तैयार किया है. इसके अलावा राज्य की सभी 81 सीटों को लेकर भी डेटा बेस बनाया जा रहा है.

माना जा रहा है कि यह डाटा बेस भाजपा-आजसू गठबंधन में टिकट के बंटवारे के साथ-साथ भाजपा के टिकट बंटवारे का भी आधार बनेगा.

कई सीटों पर नये चेहरे को मौका देने की बात सामने आ रही है. भले ही बीजेपी बहुत पहले से ही भारी जीत का दावा कर रही है और पार्टी अध्यक्ष ने 65 पार का लक्ष्य रखा है, अंदर खाने में खबर है कि भाजपा चुनाव जीतने के लिए 20 सिटिंग विधायकों का टिकट काट सकती है जिसमें चार मंत्री भी शमिल हैं.

केंद्रीय नेताओं के झारखंड दौरे आने वाले दिनों में काफी बढ़ने की संभावना जतायी जा रही है. बूथ जीतो और चुनाव जीतो फॉर्मूले को प्रदेश भाजपा आगे बढ़ा रही है. इसके अलावा केंद्र और राज्य सरकार की उपलब्धियों को घर-घर पहुंचाने में भी पार्टी कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी जा रही है.

इसे भी पढ़ें : बेरमो : बेटे ने डंडे से पीटकर की मां की हत्या, पत्नी समेत हिरासत में

एक नहीं, तीन-तीन सर्वे रिपोर्ट्स पर मंथन 

झारखंड में भाजपा के 41 विधायक हैं जिसमें से छह झारखंड विकास मोर्चा से भाजपा में शामिल हुए हैं. भाजपा सूत्रों के अनुसार विधानसभा चुनाव को देखते हुए पार्टी द्वारा दो सर्वे कराये गये. इनमें से एक सर्वे पार्टी ने संगठन के स्तर पर कराया जबकि दूसरा एक स्वतंत्र एजेंसी के जरिये हुआ. तीसरा सर्वे संघ द्वारा किया गया है.

तीनों सर्वे रिपोर्ट्स में यह बात सामने आयी है कि 20 सिटिंग विधायक दोबारा खड़े हुए तो उनका जीतना मुश्किल है. वहीं 12 भाजपा विधायकों को कांटे की टक्कर झेलनी पड़ेगी. सर्वे ने 9 सीटों को भाजपा के लिए सुरक्षित बताया है जिसमें कोडरमा (डॉ नीरा यादव), दुमका (डॉ लुइस मरांडी), गोड्डा (अमित कुमार मंडल), मधुपुर (राज पलिवार), राजमहल (अनंत ओझा), हजारीबाग (मनीष जायसवाल), पश्चिमी जमशेदपुर (सरयू राय), सिसई (दिनेश उरांव) व बिश्रामपुर (रामचंद्र चंद्रवंशी) का सीट सुरक्षित माना जा रहा है.

पार्टी प्रवक्ता का टिप्पणी से इनकार

हर मुद्दे पर बेबाक राय रखने वाले भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने सर्वे के संबंध में पूछे जाने पर किसी भी तरह की टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.

इसे भी पढ़ें : IPRD के अधिकारियों का शोषण कर रही सरकार, जल्द करे लंबित वेतन का भुगतान : JMM

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button