DeogharJharkhand

भारत की विदेश नीति व उपलब्धियां विषय पर भाजपा की ई चिंतन बैठक, बाबूलाल मरांडी और प्रदेश संगठन मंत्री धर्मपाल सिंह रहे मौजूद

Deoghar : भारत की विदेश नीति व उपलब्धियां विषय पर मंगलवार को भाजपा की ई चिंतन बैठक वर्चुअल माध्यम से संपन्न हुई. बैठक में मुख्य वक्ता के रूप में केंद्रीय प्रवक्ता हेमंत गोस्वामी शामिल रहे. उन्होंने कहा कि 2014 में केंद्र में एनडीए गठबंधन की सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बने, प्रधानमंत्री के नेतृत्व में भारत की विदेश नीति कैसी हो, इस पर विदेश सचिव को निर्देश दिया गया है.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लगातार विदेशों का दौरा किया. भारत के जितने प्रधानमंत्री कांग्रेस के बने सभी ने पश्चिमी देशों के तरह काम किया. लेकिन मोदी जी के नेतृत्व में पूर्वी देशों से संबंध बनाया और काम भी किया.

केंद्रीय प्रवक्ता ने कहा कि पड़ोसी देशों की सीमाएं करीब 15 हजार लगती है. पोस्टल क्षेत्र की सीमाएं करीब 7 हजार है और सभी के साथ विश्वास बनाया गया. इस दौरान अफगानिस्तान में रोड, संसद भवन, डैम, मॉरीशस में बिल्डिंग बनवाया गया.

इसे भी पढ़ें :IT डिपार्टमेंट ने ठेले पर चाट और समोसे बेचने वाले 256 करोड़पति खोज निकाले

नेपाल में भी 500 करोड़ का इंफ्रास्ट्रक्चर बनाया गया. भूटान को भी 4:30 सौ करोड़ का प्रोजेक्ट दिया गया. वियतनाम में भी 600 मिलियन डॉलर के साथ प्रोजेक्ट तैयार किया गया. म्यामार को भी मदद पहुंचाने का काम किया गया.

उन्होंने कहा कि भारत के साथ रुस, अमेरिका के संबंध अच्छे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में खाड़ी देशों से संबंध आगे बढ़ा है. खाड़ी देशों में प्रधानमंत्री के कहने पर मंदिर का निर्माण हुआ.

इसे भी पढ़ें :हाइकोर्ट की फटकार के बाद चला बुलडोजर, कई लोग हुए बेघर

यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कूटनीति का परिणाम है. इकनोमिक दृष्टिकोण से भारत विश्व गुरु कैसे बने इसके लिए केंद्र की सरकार नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में काम कर रही है.

केंद्र सरकार की उपलब्धि को देश से लेकर प्रदेश, जिला, प्रखंड, पंचायत के गांव में कार्यकर्ताओं को पहुंचाना है. बैठक में भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी, प्रदेश संगठन मंत्री धर्मपाल सिंह, देवघर जिला भाजपा अध्यक्ष सह नारायण दास, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य रीता चौरसिया, संजीव जजवाड़े, जिला महामंत्री अधीरचंद्र भैया, पंकज सिंह भदौरिया सहित अन्य उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें :पेगासस पर पॉलिटिक्सः रामेश्वर ने कहा-खतरे में है प्राइवेसी, बाबूलाल का भ्रम के सहारे राजनीति करने का आरोप

Related Articles

Back to top button