JharkhandMain SliderRanchi

भाजपा का दावा झूठा निकला, PM Cares Fund से नहीं खरीदा गया एक भी वेंटिलेटर, RTI से हुआ खुलासा

विज्ञापन

Amit Jha

Ranchi :  पीएम केयर्स फंड एक बार फिर चर्चा में है. इस फंड से एक भी वेंटीलेटर अब तक नहीं ख़रीदा गया है. आरटीआइ (Right to Information) से मिली जानकारी के मुताबिक अब तक इस फंड से 999.941 करोड़ रुपये व्यय किये जा चुके हैं. पर इससे एक रुपये का भी यूज वेंटीलेटर ख़रीदे जाने में नहीं हुआ है. पिछले दिनों कई भाजपा नेताओं द्वारा सोशल मीडिया पर एक वेंटीलेटर की तस्वीर जारी कर दावा किया गया था कि यह पीएम केयर्स फंड से ख़रीदा गया है. इनमें पार्टी प्रवक्ता संबित पात्रा जैसे नाम भी शामिल थे. उन्होंने 15 जून को एक ट्वीट कर किसी अस्पताल के एक वेंटीलेटर की तस्वीर जारी की थी. दावा किया जा रहा था कि पीएम केयर्स फंड का लाभ मरीजों को मिल रहा है. एनडीएमए (National Disaster Management Authority) से मिली सूचना से उनके दावा झूठा निकला.

बैंक स्टेटमेंट देने से मना किया

आरटीआइ एक्टिविस्ट साकेत गोखले ने एनडीएमए के पास एक आरटीआइ फाइल किया था. इसमें पीएम केयर्स फंड से संबंधित जानकारियां मांगी गयी थीं. 14 जुलाई को एनडीएमए ने श्री गोखले को बताया कि पीएम केयर्स फंड के पैसे प्रवासी मजदूरों की देखभाल संबंधी कार्यों पर खर्च किये गये हैं. दो किस्तों में 999.941 करोड़ रुपये देश के अलग-अलग राज्यों को इसके लिए जारी किये गये हैं. एनडीएमए ने बताया कि पीएम केयर्स फंड से वेंटिलेटर की खरीद पर एक भी रुपया खर्च नहीं किया गया है. न ही इसकी खरीद के लिए किसी भी कंपनी को पैसे दिये गये हैं. आरटीआइ के जरिये एनडीएमए के बैंक एकाउंट नंबर 39373085710 (एसबीआइ, ब्रांच-सफदरजंग एन्क्लेव, नयी दिल्ली) से संबंधित एक जानकारी भी मांगी गयी थी. इसमें इस खाते में 27 मार्च, 2020 से 24 अप्रैल, 2020 की अवधि के बीच का बैंक स्टेटमेंट मांगा गया था. एनडीएमए ने इसकी सूचना देने से मना कर दिया.

इसे भी पढ़ें – CBSE Board 10th Results: करीब 18 लाख छात्रों का इंतजार खत्म, 91.46% छात्र हुए पास

पीएम केयर्स फंड में है गड़बड़ी

साकेत गोखले ने मिली सूचना के आधार पर कहा है कि पीएम केयर्स फंड से संबंधित जानकारी सार्वजनिक करने में चाल चली जा रही है. उन्होंने ट्वीट करके कहा है कि पूरी जानकारी नहीं देना यह बताता है कि इस फंड के जरिये अकल्पनीय गड़बड़ी की जा रही है. इसमें चालाकी दिखायी जा रही है. विपक्षी दलों को आगे बढ़ कर पीएम केयर्स फंड के मसले पर सरकार से सवाल करना चाहिए. इसकी पूरी वास्तविकता सामने लायी जानी चाहिए.

इसे भी पढ़ें – रिम्स में कोरोना मरीजों पर डॉक्सीसाइक्लिन और इवरमेक्टिन दवा का ट्रायल चालू

Covid-19 संकट से निपटने को बना है PM Cares Fund

कोरोना संकट से निपटने में मदद के लिए केंद्र की पहल पर इसका गठन किया गया था. देश दुनिया से इस खाते में पैसे दिये गये हैं. एनडीएमए, नयी दिल्ली के जरिये इसका संचालन किया जाता है. उसके अनुसार फंड के पैसे प्रवासियों की देखभाल संबंधी कार्यों पर खर्च किये गये हैं. इसके अलावा और किसी तरह के मद में इस फंड के पैसे का उपयोग नहीं किया गया है. इस फंड से अब तक 999.941 करोड़ रुपये खर्च किये जा चुके हैं.

इसे भी पढ़ें – जानें कैसे धनबाद की एक गुमनामी चिट्ठी से लगा 200 करोड़ घोटाले का आरोप, पूर्व मेयर ने कहा- जांच से नहीं घबराता

advt
Advertisement

11 Comments

  1. 384946 596350hello!,I genuinely like your writing really a whole lot! percentage we maintain up a correspondence extra about your write-up on AOL? I require an expert on this region to unravel my dilemma. Might be that is you! Taking a look forward to peer you. 614093

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: