न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बीजेपी की केंद्रीय जांच टीम को चाईबासा प्रशासन ने गुदड़ी जाने से रोका, टीम जबरन आगे बढ़ी

1,965

Ranchi: चाईबासा जिले के गुदरी प्रखंड में बिरिगुलीकेरा गांव में नरसंहार के बाद बीजेपी ने जांच के लिए एक केंद्रीय टीम बनायी थी. छह सदस्यीय टीम के कुछ लोग और पार्टी कार्यकर्ता के साथ चाईबासा के लिए सुबह निकले.

लेकिन चाईबासा प्रशासन ने उन्हें कराईकेला थाना नाका के पास रोक दिया है. बीजेपी के लोगों की प्रशासन से काफी देर तक बहस हुई. प्रशासन गुदड़ी प्रखंड में धारा 144 लागू होने की बात बता कर बीजेपी की जांच टीम को रोकने की बात कह रहा है.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

ताजा खबर के मुताबिक, बीजेपी की केंद्रीय जांच टीम  प्रशासन की घेराबंदी तोड़कर जबरन सोनूआ की ओर बढ़ गयी है.


नाराज बीजेपी की जांच टीम नाके के पास सड़क पर ही धरने पर बैठ गयी है. जांच टीम में राज्यसभा सांसद समीर उरांव, भारती पवार, जॉन बारला, पूर्व मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा, यशवंत सिंह भाभोर और गोमती साय मौजूद हैं.


मौके पर मौजूद अशोक गगरई ने बताया कि टीम को प्रशासन ने जबरन रोक रखा है. जिसके बाद बीजेपी के कार्यकर्ता सड़क पर ही धरने पर बैठ गये हैं.

इसे भी पढ़ें – मंत्रीमंडल में 5 सीट को लेकर कांग्रेस का जेएमएम पर प्रेशर पॉलिटिक्स

जांच कर केंद्र को भेजी जानी थी रिपोर्ट

चाईबासा जिले के गुदड़ी प्रखंड में बिरिगुलीकेरा गांव में 19 जनवरी को सात लोगों की बड़ी ही निर्ममता से हत्या कर दी गयी थी. ग्राम सभा में गांव वालों ने नौ लोगों को मौत की सजा सुनाई थी. जिसके बाद दो वहां से फरार हो गए थे.

गुस्साये ग्रामीणों ने सातों को पीट पीट कर अधमरा कर दिया और घसीटते हुए जंगल की तरफ ले गये. जंगल में धारदार हथियार से सभी का सर धड़ से अलग कर दिया और लाश जंगल में ही फेंक दिया.

पुलिस को इस बात की सूचना एक दिन के बाद मिली. वहीं शव ढ़ूढने में उन्हें दो दिन लग गये. 23 जनवरी को झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने गांव का दौरा किया. जिसके बाद 24 जनवरी को बीजेपी की टीम घटना वाले गांव जा रही थी.

इसे भी पढ़ें – #Chaibasa सामूहिक हत्याकांड की जांच के लिए एसआइटी गठित, 5 दिन में रिपोर्ट देने का निर्देश

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like