न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हिंसा के विरोध में भाजपा का बशीरहाट में 12 घंटे का बंद, पूरे बंगाल में काला दिवस

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस बारे में अडवाइजरी जारी कर कहा कि पिछले कुछ हफ्तों से जारी हिंसा राज्य में कानून व्यवस्था लागू करने और लोगों के बीच विश्वास जगाने में व्यवस्था की असफलता को दर्शाता है.

55

Kolkata :  भाजपा आज सोमवार को बशीरहाट में 12 घंटे का बंद और पूरे बंगाल में काला दिवस मना रही है.  बता दें कि   शनिवार को 24 परगना जिले के भंगीपारा में हुई झड़प में चार लोग मारे गये थे. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस बारे में अडवाइजरी जारी कर कहा कि पिछले कुछ हफ्तों से जारी हिंसा राज्य में कानून व्यवस्था लागू करने और लोगों के बीच विश्वास जगाने में व्यवस्था की असफलता को दर्शाता है.  गृह मंत्रालय  ने पश्चिम बंगाल  से कानून व्यवस्था बनाये रखने और शांति स्थापित करने के लिए कहा है. साथ ही अपनी ड्यूटी सही से न करने वाले अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के लिए भी कहा गया है.

बता दें कि लोकसभा चुनावों के दौरान, खासकर नतीजे आने के बाद राज्य में टीएमसी और  भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़पें जारी हैं. चुनाव में भाजपा ने राज्य की 42 संसदीय सीटों में से 18 अपने नाम कर राज्य में पहली बार बड़ी जीत दर्ज की थी. उसके बाद से ही हिंसा का दौर चल रहा है.  पश्चिम बंगाल में 2021 में विधानसभा चुनाव होने हैं.

इसे भी पढ़ेंःचौपारणः खड़े ट्रक से जा टकरायी बस, 11 लोगों की मौत-23 से अधिक जख्मी

 राज्य में स्थिति नियंत्रण में : चीफ सेक्रटरी पश्चिम बंगाल

दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल के चीफ सेक्रटरी ने अपने जवाब में गृह मंत्रालय को पत्र लिखकर जानकारी दी है कि राज्य में स्थिति नियंत्रण में है. साथ ही यह भी कहा कि किसी भी तरह से यह समझा नहीं जाना चाहिए कि राज्य की कानून व्यवस्था लागू करने वाली मशीनरी ऐसा करने और लोगों में विश्वास जगाने में असफल रही है.  उन्होंने कहा कि राज्य में चुनावों के बाद कुछ घटनाओं को असामाजिक तत्वों ने अंजाम दिया है लेकिन कानून लागू करने वाली अथॉरिटीज ने इन मामलों में बिना किसी देरी के उचित और कड़ी कार्रवाई की है.

इसे भी पढ़ें-  प्रसिद्ध साहित्यकार-एक्टर गिरीश कर्नाड का लम्बी बीमारी के बाद निधन

 राज्य में तनाव का माहौल है

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच जारी टकराव से राज्य में तनाव का माहौल है. आज गवर्नर केशरीनाथ त्रिपाठी दिल्ली में प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात करेंगे.  समझा जा रहा है कि वह सूबे में हिंसा पर पीएम को रिपोर्ट सौपेंगे.  हालांकि, खुद राज्यपाल ने इन खबरों का खंडन करते हुए कहा है कि वह पीएम से मुलाकात कर उन्हें चुनाव में जीत की बधाई देंगे.  राज्य में टीएमसी-बीजेपी की टक्कर के हिंसक रूप से लेने से राज्य में चिंताजनक स्थिति पैदा हो गयी है.  इस पर गंभीरता दिखाते हुए गृह मंत्रालय ने रविवार को राज्य सरकार को अडवाइजरी जारी करते हुए कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए जरूर कदम उठाने को कहा है.  वहीं राज्य ने इस पर जवाब देते हुए कहा है कि हिंसा के मामलों में उचित और त्वरित कार्रवाई की जा रही है.

उत्तर 24 परगना में शनिवार को हुई झड़प में मारे गये  भाजपा कार्यकर्ताओं के अंतिम संस्कार को लेकर राज्य की पुलिस और भाजपा नेताओं के बीच रविवार को टकराव हो गया। बशीरहाट में रविवार को अंतिम दर्शन के लिए पार्टी कार्यालय ले जाये जा रहे शवों को पुलिस ने रोक लिया.  इस बीच पुलिस पर मनमानी करने का आरोप लगाकर भाजपा सोमवार को बशीरहाट में 12 घंटे का बंद और पूरे बंगाल में काला दिवस मना रही है

बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने भी पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए  लोगों से अपील की है कि इस बात का ध्यान रखा जाये कि कहीं हिंसक घटनाएं न हों और राज्य में शांति और सौहार्द स्थापित हो.  पहले ऐसी खबरें थीं कि सोमवार को पीएम नरेंद्र मोदी से मिलने जा रहे राज्यपाल बंगाल हिंसा पर एक रिपोर्ट देंगे लेकिन उन्होंने उन खबरों का खंडन किया हैय राज्यपाल ने साफ किया है कि वह दिल्ली पीएम को लोकसभा चुनाव में जीत की बधाई देने गये हैं. हिंसा पर बात करने नहीं

इसे भी पढ़ें- पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हत्याएं, गृहमंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल के अधिकारियों से ग्राउंड रिपोर्ट मांगी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्लर्क नियुक्ति के लिए फॉर्म की फीस 1000 रुपये, कितना जायज ? हमें लिखें..
झारखंड में नौकरी देने वाली हर प्रतियोगिता परीक्षा विवादों में घिरी होती है.
अब JSSC की ओर से क्लर्क की नियुक्ति के लिये विज्ञापन निकाला है.
जिसके फॉर्म की फीस 1000 रुपये है. यह फीस UPSC के जरिये IAS बनने वाली परीक्षा से
10 गुणा ज्यादा है. झारखंड में साहेब बनानेवाली JPSC  परीक्षा की फीस से 400 रुपये अधिक. 
क्या आपको लगता है कि JSSC  द्वारा तय फीस की रकम जायज है.
इस बारे में आप क्या सोंचते हैं. हमें लिखें या वीडियो मैसेज वाट्सएप करें.
हम उसे newswing.com पर  प्रकाशित करेंगे. ताकि आपकी बात सरकार तक पहुंचे. 
अपने विचार लिखने व वीडियो भेजने के लिये यहां क्लिक करें.

you're currently offline

%d bloggers like this: