न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

खुद को चौकीदार बतानेवाले भाजपा कार्यकर्ता ही हैं असली लुटेरे : हेमंत सोरेन

270

Ranchi: भाजपा के ‘मैं भी चौकीदार कैंपेन’ को लेकर झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने कहा कि देश और राज्य की जनता इनके इस धोखे में नहीं आनेवाली है. भाजपावालों ने पिछले पांच वर्षों में किस तरह से देश को लूटा, वो आज जगजाहिर है. भाजपा वाले अपने आप को देश का चौकीदार कहते हैं, जबकि हकीकत यह है कि वे ही देश के असली लुटेरे हैं. महागठबंधन में शामिल दलों की प्रस्तावित बैठक पर उन्होंने कहा है कि बैठक महागठबंधन की मजबूती के लिए है. इसमें जेएमएम, कांग्रेस, जेवीएम सहित आरजेडी को भी न्यौता दिया गया है. हेमंत सोरेन ने उक्त बातें रविवार को जेएमएम में शामिल हुए युवाओं के स्वागत कार्यक्रम के दौरान अपने आवास में कही.

देखें वीडियो-

hosp3

इसे भी पढ़ें – लोकसभा 2014 : एक करोड़ 46 लाख कैश और 99 लाख के अवैध सामान झारखंड में किये गये थे जब्त

प्रदेश की राजनीतिक ताकत सबसे अधिक जेएमएम के पास

कार्यक्रम के दौरान जेएमएम कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी की नीतियों से प्रभावित होकर ही रांची शहर के कई युवाओं ने संगठन में अपना योगदान देने का मन बनाया है. शामिल होनेवाले युवा जानते हैं कि राज्य के सभी दलों की हालत क्या है. वहीं वे यह भी जानते हैं कि प्रदेश की राजनीतिक ताकत सबसे अधिक जेएमएम के पास है. भले ही विधायक या सांसद की संख्या कम हो. हेमंत ने कहा कि जेएमएम आंदोलन और संघर्ष से जन्म ली हुई पार्टी है. इन्हीं युवाओं के ताकत और संघर्ष की बदौलत जेएमएम ने ही दलितों, गरीब आदिवासियों के अधिकारों की लड़ाई लड़नी जारी रखी है. मालूम हो कि पार्टी के रांची जिला अध्यक्ष मुस्ताक आलम के नेतृत्व में डोरंडा कॉलेज के नवनिर्वाचित सचिव मोहम्मद राशिद ने कई युवाओं के साथ जेएमएम का दामन थामा.

इसे भी पढ़ें – मौत की घाटी बन चुकी है चुटूपालू घाटी, 3 माह में 10 लोगों की हो चुकी है मौत

हेमंत का सवाल ‘मैं भी चौकीदार कैंपेन’ से क्या मिलेगा वोट

इस दौरान हेमंत सोरेन ने भाजपा के कार्यक्रम ‘मैं भी चौकीदार कैंपेन’ पर पर भी प्रहार किया. उन्होंने कहा कि इससे क्या भाजपा को वोट मिल जाएगा. चोरों के चौकीदार एकबार फिर देश की जनता को ठगने का काम कर रहे हैं. भाजपावाले अपने आप को देश का चौकीदार बताते हैं. जबकि हकीकत यह है कि ये लुटेरे हैं. इन लुटेरों से बच कर रहने की जरूरत है. इनके लुटेरे चेहरों को उजागर करने के लिए ही सभी दलों ने आपसी सहमति से महागठबंधन का स्वरूप तैयार किया है.

इसे भी पढ़ें – कांग्रेस ने आदिवासियों को गुमराह कर केवल मतपेटी भरने का काम किया : समीर उरांव

पलामू और चतरा की स्थिति पर पर होगी चर्चा

महागठबंधन को लेकर बुलायी बैठक पर उन्होंने कहा कि महागठबंधन के बने स्वरूप पर चर्चा के लिए बैठक प्रस्तावित है. बैठक में इस बात पर चर्चा होगी कि कैसे सहयोगी दलों के प्रत्याशियों की जीत को जमीन पर उतारा जाए. बैठक में पलामू और चतरा की स्थिति और आरजेडी के प्रतिनिधियों के आने के सवाल पर हेमंत ने कहा कि आरजेडी को भी निमंत्रण भेजा गया है, ताकि जो स्थिति इन दो संसदीय क्षेत्रों को लेकर बनी है. उसका कोई सही हल निकाला जा सके.

इसे भी पढ़ें – राहुल गांधी अमेठी के साथ वायनाड से भी लड़ेंगे चुनाव : एंटनी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: