न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लौह फैक्टरी में मजदूर की मौत, संचालक पर लापरवाही का आरोप

सवालों से भाग रहा है फैक्ट्री प्रबंधन

48

Giridih : गिरिडीह की लौह फैक्ट्रियों में लापरवाही से मजदूरों की मौत अब सामान्य बात हो चली है. इसी कड़ी में रविवार रात को चतरो स्थित बालमुकुंद फैक्टरी में जयप्रकाश सिंह नाम के मजदूर की मौत हो गई.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड की सभी लोकसभा सीटें जीतेगी भाजपा : लक्ष्‍मण गिलुआ

दस सालों से फैक्ट्री में था मजदूर

मृतक मजदूर जयप्रकाश सिंह देवघर जिला के मरगोमुंडा के अंबाटाड़ गांव का रहने वाले था. मृतक की पत्नी नीलम देवी ने बताया कि उसका पति बालमुकुंद फैक्ट्री में पिछले 10 वर्षों से मजदूर के रूप में काम कर रहा था. बीती रात फैक्टरी के अंदर दुर्घटना में उसकी मौत हो गई.

इसे भी पढ़ेंःमारवाड़ी कॉलेज में डिजिटल इंडिया हुआ फेल, ऑफलाइन लिया जा रहा है छात्रों का परीक्षा फॉर्म

पत्नी ने फैक्ट्री पर लगाया आरोप

पत्नी नीलम देवी ने बताया कि कंपनी के द्वारा उसे फोन पर सूचना दी गई कि उसका पति अस्पताल में भर्ती है. देवघर से गिरिडीह पहुंचने पर उसने सदर अस्पताल में अपने पति की लाश देखी. पत्नी ने आरोप लगाया कि प्लांट में उसके पति की मौत पहले ही दुर्घटना में हो चुकी थी. मामले को छुपाने के लिए उससे झूठ बोला गया.

इसे भी पढ़ेंःझरिया के लाखों लोग जान से खिलवाड़ कर रहे हैं, आखिर क्यों?

कुछ दिनों पूर्व एसडीएम ने मारा था छापा

उल्लेखनीय है कि कुछ दिनों दो माह पूर्व ही गिरिडीह की पूर्व एसडीएम विजया जाधव ने बालमुकुंद फैक्ट्री में छापा मारकर प्रदूषण और सुरक्षा मानकों पर हो रही लापरवाही पर फैक्ट्री प्रबंधन को कड़ी फटकार लगाकर सभी जरूरी उपाय करने का निर्देश दिया था. लेकिन प्लांट के अंदर हुई मजदूर की मौत की घटना से फैक्ट्री प्रबंधन की लापरवाही फिर से उजागर हो गई.

इसे भी पढ़ेंःडीएवी स्कूल मुगमा को बंद करने की उच्चस्तरीय जांच समिति ने की अनुशंसा

फैक्ट्री प्रबंधक ने नहीं दिया अपना पक्ष

फैक्ट्री में मजदूर की जयप्रकाश की मौत पर जब सीधी नजर ने बालमुकुंद टीएमटी फैक्ट्री के प्रबंधक फूलचंद राम पर फोन पर कंपनी का पक्ष लेना चाहा तो उन्होंने किसी तरह का बयान नहीं दिया. फोन पर बाद में बताता हूं कहकर उन्होंने इस दुर्घटना पर पूछे जा रहे सवालों को टाल दिया. इससे जाहिर है कि फैक्ट्री प्रबंधन इस पूरे मामले को सामान्य हादसा बताकर अपनी जिम्मेदारी से पीछा छुड़ाना चाहता है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: