न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अंतिम चरण का चुनाव तय करेगा बीजेपी की हार, यह चरण बीजेपी के लिए घातक: वृंदा करात

161

Ranchi: अंतिम चरण का चुनाव बीजेपी के लिए घातक साबित होगा. क्योंकि अंतिम चरण का चुनाव में वास्तव में बीजेपी सरकार की हार को तय करेगा. जितने लुभावने भाषण बीजेपी के नेताओं ने चुनाव प्रचार के दौरान के दिये, उसका असर चुनाव के दौरान तो नहीं देखा गया. उक्त बातें सीपीआइएम पोलित ब्यूरो सदस्य वृंदा करात ने कहीं. वह राजमहल के ललमटिया में जनसभा को संबोधित कर रही थीं. इस दौरान उन्होंने कहा कि पिछले कुछ दिनों से बीजेपी जिस तरह से जनता को छल रही है, उसका असर चुनाव में दिखना स्वाभाविक था. बीजेपी खुद भी समझती है कि अब बहुमत उन्हें हासिल होनेवाला नहीं. ऐसे में पार्टी अब धर्म का सहारा ले रही है. लेकिन जनता के मूड से अंदाजा लगाया जा सकता है कि इस बार धर्म की राजनीति भी काम नहीं आनेवाली.

इसे भी पढ़ें – शहरी क्षेत्रों में वोट प्रतिशत घटने और ग्रामीण इलाकों में वोट प्रतिशत बढ़ने से बीजेपी चिंतित

विश्लेषण बताते हैं बीजेपी इस बार नहीं

चुनाव के नतीजे अभी आये नहीं हैं, लेकिन विभिन्न विश्लेषणों से जानकारी हो रही है कि इस बार जनता ने बीजेपी को नहीं चुना है. देश के निर्मार्ण और विकास के लिए ये जरूरी है कि बीजेपी सत्ता में न आएं. उन्होंने कहा कि कई स्थानों में जाकर जनता से बात करने से भी जानकारी हुई कि इस बार जनता ने बीजेपी को नहीं चुना है. प्रधानमंत्री की जुमलेबाजी ने ही बीजेपी का सफाया किया है. चुनाव परिणाम से यह स्पष्ट हो जाएगा कि जनता क्या चाहती है.

इसे भी पढ़ें – विश्व कप 2019: मैनेजमेंट का एक फैसला किंग कोहली पर पड़ सकता है भारी

hotlips top

आखिरी समय में आयी किसानों की याद

सत्ता में रहते हुए सरकार ने कभी भी किसानों के हित में निर्णय नहीं लिये. देश भर में कितने किसानों ने आत्महत्या की, लेकिन इस पर ध्यान न देकर बीजेपी ने कॉरपोरेट घरानों को बचाने का काम किया. वहीं जब चुनाव नजदीक आया तो अचानक बीजेपी को किसानों की याद आने लगी. ये सिर्फ बीजेपी का छलाव है. जनता भी अब यह बात समझ चुकी है. ऐसे में कितना भी सरकार प्रयास कर लें लेकिन अब जनता ने फैसला कर लिया है जो चुनाव परिणाम के साथ ही सामने आयेगा. मौके पर सचिवमंडल सदस्य प्रकाश विप्लव, गोपीन सोरेन समेत अन्य लोग उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – अमेरिका और ईरान से तनाव के बीच सऊदी अरब के तेल टैंकरों पर हमला

30 may to 1 june

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like