न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा नहीं हैं नाराज, पार्टी ने अमित शाह से दूरी की बतायी यह वजह

488

Ranchi : बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के झारखंड दौरे के बीच राजनीतिक गलियारों में यह चर्चा गर्म रही कि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीण गिलुवा की भाजपा से पट नहीं रही. मीडिया में यह खबर आने के बाद भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता् दीनदयाल वर्णवाल ने कहा कि आदिवासियों के विभिन्न समुदायों का एक बड़ा सम्मेलन राष्ट्रीय अध्यक्ष के समक्ष हुआ था, जिसकी चर्चा चारों ओर है. प्रदेश प्रवक्ताश ने बताया कि स्थानीय कार्यक्रम में लक्ष्म ण गिलुवा को रहना अनिवार्य था और घर में एक धार्मिक अनुष्ठान में भी उनको सम्मिलित होना था. यह बात बताकर एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को विश्वास में लेकर ही प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्महण गिलुवा ने चाईबासा का प्रोग्राम किया था. बिना प्रामाणिकता की बातें चल रही हैं, जो बिल्कुल झूठी हैं.

इसे भी पढ़ें- घोषणा कर भूल गयी सरकारः 13 जुलाई – सर, यह अंब्रेला स्कीम क्या होती है, जो अब तक लागू ही नहीं…

शाह के कार्यक्रम की सफलता से घबराकर भ्रामक खबरें फैला रहे विपक्षी

प्रदेश अध्ययक्ष दीनदयाल वर्णवाल ने कहा कि अमित शाह के एक दिवसीय कार्यक्रम की सफलता से घबराकर विपक्षियों द्वारा साजिश के तहत भाजपा के एक आदिवासी प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद लक्ष्मण गिलुवा से संबंधित भ्रामक और तथ्यहीन खबरें फैलायी जा रही हैं कि प्रदेश अध्यक्ष नाराज चल रहे हैं. राष्ट्रीय अध्यक्ष के समक्ष सभी कार्यक्रमों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना, सभी कार्यक्रमों को संबोधित करना एवं कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार करना और सफल कार्यक्रम का होना उनकी उपलब्धि रही. राष्ट्रीय अध्यक्ष झारखंड के सभी कार्यक्रमों से पूरी तरह संतुष्ट होकर सवेरे बिहार के लिए रवाना हुए थे. वहीं, प्रदेश प्रवक्ताक प्रतुल शाहदेव ने कहा कि इस मामले में प्रदेश अध्यवक्ष लक्ष्मवण गिलुवा का आधिकारिक बयान जल्दह जारी किया जायेगा.

palamu_12

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: