JharkhandRanchi

वर्चुअल रैली में सिर्फ बिहार में BJP ने 150 करोड़ किये खर्च, पूरी राशि में सारे मजदूर घर लौट जाते: हेमंत

  • प्रशासनिक व्यवस्था को लेकर सीएम ने कहा-जब खेत में हल चलेगा, तो पत्थर-गिट्टी तो ऊपर-नीचे होंगे ही
  • यह दुर्भाग्य है कि कोरोना संक्रमण से लड़ाई में केंद्र से राज्य को एक वेंटिलेटर तक नहीं मिला

Ranchi :  कोरोना संकट के बीच भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की वर्चुअल रैली को लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने एक बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि इन रैलियों में बीजेपी ने जितनी राशि खर्च की है, उससे देश के विभिन्न राज्यों में फंसे मजदूरों को मुफ्त में घऱ लाया जा सकता था.

बिहार में तो इस रैली में करीब 150 करोड़ रुपये खर्च कर दिये गये हैं. सीएम सोरेन ने कहा कि कई देश ऐसे है कि जहां कोरोना संक्रमण की स्थिति से बढ़ी, तो वहां के राष्ट्रपति फूट-फूटकर रोने लगे. जब हमारे देश में कोरोना आया तो सभी ने मिलकर लड़ने का काम किया. वहीं दूसरी तरफ बीजेपी वर्चुअल रैली में ही राजनीति करने में व्यस्त है.

ram janam hospital
Catalyst IAS

प्रोजेक्ट भवन परिसर में मंगलवार देर शाम मीडिया से बातचीत में सीएम ने कहा कि झारखंड में कोरोना के पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ रही है. राज्य सरकार इसे रोकने के लिए हर एहतियातन कदम उठा रही है. यह हकीकत है कि केंद्र की तरफ से राज्य को एक वेंटिलेटर तक नहीं मिला है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार अपने सीमित संसाधनों के बल पर कोरोना जंग से लड़ रही है.

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें – School Fee: तीन महीने तक अभिभावकों को मिलता रहा आश्वासन, अंत में मिला झुनझुना

दिशा देने की जगह राज्य को किया गया दिशाहीन

एक सवाल के जवाब में सीएम ने कहा कि विगत दिनों में राज्य को दिशा देने का जो प्रयास हुआ है, उससे सभी वाकिफ हैं. आज स्थिति यह है कि राज्य को दिशा तो नहीं मिली, पर राज्य दिशाहीन जरूर हो गया है. आज राज्य को दिशा देने का समय है. गठबंधन सरकार में दिशा दी भी जा रही है.

हालांकि ऐसी स्थिति में बहुत सारे अटकलें और रुकावटें भी आती हैं. चाहे वह प्रशासनिक स्तर पर हो या किसी अन्य स्तर पर हो. सीएम ने कहा कि जब खेत में हल चलेगा, तो पत्थर-गिट्ठी तो उपर-नीचे भी होगा. सीएम ने आश्वासन दिया कि भविष्य में राज्य में बेहतर प्रशासनिक व्यवस्था कायम की जायेगी.

इसे भी पढ़ें – Covid-19 ने छीनी सीएम स्मार्ट ग्राम बुंडू के किसानों की मुस्कान, बैंक लोन चुकाने की चिंता में हो रहे दुबले

जीवन और जीविका में जीवन को चुनना होगा बेहतर

सीएम सोरेन ने कोरोना संक्रमण के दौरान बनी स्थिति पर भी मीडियाकर्मियों से बातचीत की. उन्होंने कहा कि इस संक्रमण के दौर में जीवन और जीविका को चुनने की बात हो, तो जीवन को चुनना होगा. जीवन रहेगा, तो ही जीविका खुद ब खुद आ जायेगी.

सीएम ने कहा कि कोरोना की वास्तविक स्थिति पर सरकार की नजर है. सरकार इस बात का मूल्यांकन कर रही है कि राज्य में स्वास्थ्य व्यवस्था को कैसे मजबूत किया जाये. केंद्र पर निशाना साधते हुए हेमंत ने कहा कि जो राज्य शैक्षणिक और आर्थिक रूप से कमजोर हैं, वैसे राज्यों पर सरकार को पुरजोर मदद पहुंचानी चाहिए.

इसे भी पढ़ें – Corona: 9 जून को 84 नये कोरोना संक्रमितों की पुष्टि, झारखंड में हुए 1414 केस

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button